महिला एवं बाल चिकित्सालय का बिगड़ा ढर्रा, गंदगी से अटे पड़े शौचालय, जिम्मेदार बेखबर।

चित्तौडग़ढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
चित्तौड़गढ़ जिले के सबसे बड़े महिला एवं बाल चिकित्सालय में मरीजों पर आमजन को दी जाने वाली मूलभूत सुविधाएं अब उनके लिए ही असुविधाएं साबित हो रही हैं। जिसमें महिला एवं बाल चिकित्सालय में शौचालय और पेयजल संबंधी मूलभूत सुविधाओं से भी आमजन को महरूम रहना पड़ रहा है। खास तौर पर आउटडोर में आमजन के लिए बनाए गए शौचालय जहां गंदगी से अटे पड़े हैं वहीं कुछ शौचालय पर ताले लटके हुए हैं। जिसके कारण मरीजों और उनके परिजनों के साथ चिकित्सालय में आने वाले आमजन को भी यह सुविधाएं अब और असुविधाएं लगने लगी है।
जानकारी के अनुसार जिले के सबसे बड़े महिला एवं बाल चिकित्सालय  परिसर मे आउटडोर और विभिन्न वार्डों में बने शौचालय की हालत बद से बदतर दिखाई दे रही है। जिसमें तस्वीरें बयां कर रही है कि कुछ शौचालय पर ताले लटके हैं। वहीं कुछ शौचालय गंदगी से अटे पड़े हैं। वासवेशन की पाइप गायब है तो कही गंदगी का आलम है जिससे चारों तरफ आमजन को बदबू के सिवाय कुछ दिखाई नहीं दे रहा। इनकी सफाई के लिए चिकित्सालय प्रशासन की ओर से ठेकेदार को प्रतिमाह एक मोटी राशि  भुगतान के रूप में दी जा रही है। लेकिन अगर सुविधाओं की बात की जाए तो यह सुविधाएं अब आमजन के लिए असुविधाएं साबित हो रही है।इसका प्रमुख कारण यह सामने आया है कि चिकित्सालय मे सफाई के ठेकेदार सत्ता परिवर्तन के साथ बदलते रहते हैं और ठेका पद्धति में सत्ता पक्ष के राजनीति से जुड़े नेता ठेका लेने लगे हैं। जिनके पास समय का अभाव होने के साथ ही सफाई कार्य का अनुभव नहीं होने के चलते चिकित्सालय परिसर में सफाई व्यवस्थाए धरातल पर आ गई है। वही दूसरा कारण यह भी सामने आया है कि ठेकेदार के द्वारा सफाई कर्मियों को समय पर भुगतान नहीं दिए जाने से भी सफाई कर्मी नाराज बताया जा रहे हैं और कार्य में लापरवाही बरत रहे हैं। जिसका खामियाजा मरीजों के साथ उनके परिजनों और आमजन को भुगतना पड़ रहा है। इसकी पूरी जानकारी संबंधित अधिकारियों को होने के बावजूद भी चिकित्सालय प्रशासन राजनीतिक दबाव के चलते ठेकेदार पर किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं कर पा रहा है। वर्तमान हालातों को देखते हुए और विषम परिस्थितियों को जानकर भी चिकित्सालय में आने वाला आमजन भी मूक दर्शक की तरह सब कुछ सहन करने को मजबूर है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack