वक्ताओं ने हिन्दी भाषा पर किये अपने विचार व्यक्त, हिन्दी भाषा को बताया विश्व की श्रेष्ठ भाषा।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
जिला पुस्तकालयाध्यक्ष रामनिवास मीना ने बताया कि राजकीय सार्वजनिक जिला पुस्तकालय मे हिन्दी दिवस का आयोजन किया गया।जिसमे दैनिक जीवन मे हिन्दी के प्रयोग और व्यवहार मे हिन्दी के प्रति रूझान बढाने व जनजन की भाषा बनाने पर जोर दिया। इस अवसर पर हिन्दी साहित्य मे रूचि लेने वाले प्रबुद्धजनों ने भाग लिया। जिसका संचालन मॉ सरस्वती के चित्रपट के सामने दीप एवं माल्यार्पण करते हुए विचार गोष्ठी मे विभिन्न वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये। विचार गोष्ठी की अध्यक्षता प्रेस क्लब अध्यक्ष कृष्ण चंद चतुर्वेदी द्वारा की गई।उन्होने बताया कि हिन्दी भाषा देश की अखंडता एवं सांस्कृतिक चेतना का आधार है। मुख्य अतिथि दर्शनीलाल शर्मा ने काव्य पाठ के द्वारा हिन्दी की व्यापकता की कामना भी की। इस दौरान कवि उम्मेद सिंह ने भी अपनी कविता पढी। इस दौरान छात्र छात्राओं के कनिष्ठ वर्ग एवं वरिष्ठ वर्ग निबंध लेखन एवं वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित कर प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को पारितोषिक वितरण भी किया गया।पुस्तकालयाध्यक्ष रामनिवास मीना ने कहा कि आमजन को हिन्दी के प्रति स्वप्रेरणा लेनी चाहिए व दैनिक जीवन मे अधिक से अधिक हिन्दी का प्रयोग करना चाहिए। इसके अलावा तुलसीदास मुदगल ने हिन्दी भाषा को विश्व की श्रेष्ठ भाषा बताया इसके साथ ही ओमप्रकाश राठी एवं सुशील कुमार शर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस दौरान नेमी चंद्र पत्रकार, रजनीश कुमार शर्मा, व्याख्याता श्रीमति अनुराधा शर्मा, वरिष्ठ अध्यापक जमनालाल जाटव, रशीद खॉ, खुशीराम, भंवरसिंह, महावीर सिंह, राजकुमार मिततल व स्कूल एवं पुस्तकालय के पाठक भी उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack