राज्यपाल से ईनाम लेकर लौटे शिक्षक को गांव में घोड़ी पर बैठाकर डीजे की धुनों पर निकाला जुलूस।

डूंगरपुर-प्रवेश जैन।
शिक्षक दिवस पर राज्यपाल से ईनाम लेकर लौटे शिक्षक के गांव में आते ही लोगों ने घोड़ी पर बैठाकर गाजे बाजे के साथ जुलूस निकाला। स्कूल के बच्चो से लेकर गांव के सभी लोग नाचे और शिक्षक के सम्मान में खुशी जताई। शहर से सटे राजकीय प्राइमरी स्कूल भीलवटा के शिक्षक दीपक पंड्या को शिक्षक दिवस पर राज्य स्तरीय पुरुस्कार से जयपुर में सम्मानित किया गया। स्कूल शिक्षक दीपक पंड्या और उनकी पत्नी शिक्षिका दीपिका पंड्या के नवाचारों और पढ़ाई के तरीके से गांव के लोग इतने खुश है की गांव में उनके आते ही फूलों से लाद दिया। शिक्षक दीपक पंड्या आज बुधवार सुबह भीलवटा स्कूल जा रहे थें। गांव के मैन रोड पर हो गांव के सभी लोग पहले से उनके स्वागत में खड़े रहे। शिक्षक दीपक पंड्या और उनकी पत्नी दीपिका को फूल माला पहनाई। सभी लोगो के स्वागत के बाद शिक्षक दीपक पंड्या को गांव के लोगो ने मिलकर घोड़े पर बैठाया। आगे डीजे की धुने बजने लगी। देशभक्ति गानों पर बच्चो से लेकर गांव के लोग खूब नाचे और शिक्षक के इस सम्मान पर खुशी जताई। गाजे बजे के साथ गांव के सभी लोग उनके साथ स्कूल पहुंचे और फिर उनका सम्मान समारोह किया। शिक्षक दीपक पंड्या ने की स्कूल और बच्चे उनके परिवार की तरह है। इसलिए बच्चो के साथ ही गांव के लोग भी उनसे प्यार करते है। यही वजह है की उनके सम्मान की खुशी में गांव के सभी लोग शामिल हो गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack