राज्य के प्रमुख निर्यातकों के साथ की केंद्र सरकार के अतिरिक्त वाणिज्य सचिव ने बैठक।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
भारत सरकार के अतिरिक्त वाणिज्य सचिव अमित यादव ने राज्य के निर्यातकों एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता और आयुक्त महेंद्र कुमार पारख के साथ बैठक की। उद्योग भवन में आयोजित बैठक में निर्यातकों को कंटेनर्स की सुविधा सुनिश्चित करने, एमएमटीसी के जरिए सोना, चांदी, प्लेटिनम सहित बहुमूल्य धातुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने, राजस्थान निर्यातक प्रोत्साहन परिषद को मल्टी सेक्ट्रॉल ईपीसी से मान्यता दिलाने, बहुमूल्य स्टोन्स की इंपोर्ट ड्यूटी को 7.5 से 2.5 तक कम करने, सोने और चांदी के आभूषणों की इंपोर्ट ड्यूटी को 10 से 6 प्रतिशत करने और जयपुर में जैम बर्स की स्थापना करने जैसे विषयों पर विस्तार से चर्चा की हुई।यादव ने कहा कि राजस्थान निर्यात के मामले में देश भर में 12वें स्थान पर है। उन्होंने कहा कि खनिजों की विपुलता के चलते यहां निर्यात की अच्छी संभावना है। ऑयल और गैस पाइपलाइन की उपलब्धता से निर्यात की संभावनाओं को खासा बल मिलेगा। उन्होंने निर्यातकों को आश्वस्त किया कि वह आवश्यक मांगो को केंद्र सरकार के समक्ष राहत दिलवाने का प्रयास करेंगे। अतिरिक्त मुख्य सचिव वीनू गुप्ता ने कहा कि निर्यातकों से किसी मंच पर इस तरह डायलॉग करना अच्छी पहल है। इससे राज्य सरकार से जुड़े मुद्दों के समाधान मिलने की संभावना बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में निर्यात प्रोत्साहन के लिए अनेकों स्कीम चलाई जा रही हैं। राज्य सरकार निर्यात को बढ़ाने के लिए लॉजिस्टिक पर पूरा ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार निर्यातकों को अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराने के लिए संकल्पित है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack