कुनबा एक रखने आए अमित शाह ने दिया सस्ते तेल और बिजली का जुमला।

जोधपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जोधपुर पहुंचकर गहलोत सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने जनता से वादा करते हुए कहा कि हमारी सरकार बनी तो महंगी बिजली और पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों से राहत देंगे। उन्होंने कहा कि विकास की दौड़ में राजस्थान पिछड़ रहा है। उन्होंने कहा कि राजस्थान अपराध की राजधानी बन रहा है। शाह ने इससे पहले वीर दुर्गादास को नमन किया। उन्होंने गहलोत सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने पेट्रोल डिजल पर टैक्स कम किया। लेकिन गहलोत सरकार ने कम नहीं किया। आज पूरे देश में सबसे महंगा पेट्रोल- डीजल बिजली राजस्थान की जनता को मिल रही है। हमारी सरकार आई तो हम टैक्स कम करेंगे और सस्ती बिजली भी देंगे। गृहमंत्री ने कार्यकर्ताओं से कहा कि इसके लिए 2023 में भाजपा की सरकार बनानी होगी। उन्होंने कहा कि हमें 2024 में मोदी सरकार की वापसी के लिए लोकसभा की सभी सीटें उनकी झोली में डालनी है। लेकिन इससे पहले 2023 में गहलोत सरकार को हटाकर दो तिहाई बहुमत से भाजपा की सरकार बनानी है। अपने संबोधन के दौरान शाह ने वसुंधरा राजे की पूर्ववर्ती सरकार की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि वसुंधरा ने भामाशाह योजना दी। 5 रुपए में भोजन दिया, गौरव पथ दिया और किसानों का कर्जा माफ किया था। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस विकास नहीं सिर्फ तुष्टीकरण ही कर सकती है। हम अपने भाई कन्हैयालाल दर्जी की जिस तरह से उदयपुर में हत्या हुई उसे सहन नहीं कर सकते हैं। गृहमंत्री ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि क्या वे हिंदु त्योहारों पर प्रतिबंध लगाना, रामनवमी की शोभा यात्रा पर रोक, विजय दशमी के पथ संचलन को रोकना सहन करेंगे क्या? करौली, मालपुरा, जोधपुर सहित कहीं पर जो दंगे हुए वे कांग्रेस ने सुनियोजित तरीके करवाए हैं। कामां में अवैध खनन के विरोध में संत द्वारा आत्मदाह करने पर शाह ने तंज कसा कि गहलोत जी अगर सरकार संभल नहीं रही है तो छोड़ दिजिए भाजपा संभाल लेगी।

विदेशी जर्सी पहन भारत जोडने चले हैं राहुल बाबा।

अमित शाह ने कहा कि राहुल बाबा भारत जोड़ो यात्रा कर रहे हैं। विदेशी जर्सी और टीशर्ट पहन कर जोड़ने चले हैं। मैं उनको और कांग्रसियों को उनके संसद के एक भाषण की याद दिलाता हूं, जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत राष्ट्र है ही नहीं। शाह ने का कि राहुल बाबा किस किताब में पढ़े हो इस राष्ट्र के लिए हजारों लाखों लोगों ने आहुति दी है। लेकिन आपको राष्ट्र नजर नहीं आता, इनको भारत का इतिहास पढ़ने की जरूरत है। शाह ने कहा कि गत चुनाव में गहलोत ने राहुल बाबा के साथ मिलकर अंट शंट वादे किए थे। दस दिन में किसानों का कर्ज माफ करने का कहा था। लेकिन नहीं हुआ। बेरोजगारों को भत्ता नहीं मिला। रोजगार नहीं दिया। हमें गहलोत सरकार से उनके किए गए वादों का हिसाब मांगना है। शाह ने कहा कि अभी कांग्रेस की देश में राजस्थान और छत्तीसगढ में सरकार है। 2023 में दोनों जगह पर चुनाव हैं, हमें दोनों जगह पर भगवा झंडा फहराना है। इसके बाद कांग्रेस का स्कोर जिरो हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार कार्यकर्ता बनाते हैं। उनके जोश से बनती है। उन्होंने कहा कि इस गर्मी में कार्यकर्ता यहां बैठे हैं, इनका जोश बताता है कि यहां सरकार बदलने वाली है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack