सीबीईओ करें बहुआयामी कार्य ताकि प्रत्येक ब्लॉक में शिक्षा के प्रति बने माहौल बने-जिला कलेक्टर।

हनुमानगढ़-विश्वास कुमार।
हनुमानगढ़ शिक्षा विभाग की जिला निष्पादक समिति की बैठक मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलेक्टर नथमल डिडेल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में जिला कलेक्टर ने सभी सीबीईओ से कहा कि वे संबंधित ब्लॉक में बहुआयामी कार्य संपादित करें ताकि जिले को शिक्षा के क्षेत्र में आगे ले जाया जा सके। उन्होंने कहा कि सीबीईओ के पास उसके कार्यक्षेत्र में आ रही सभी स्कूलों की प्रोफाइल होनी चाहिए और यह पता होना चाहिए कि कौनसी स्कूल में कहां क्या कमी है, कैसे सुधार हो सकता है और कौनसी स्कूल में क्या अच्छा कार्य हो रहा है। इसको लेकर सीबीईओ अपने कार्यक्षेत्र के सभी पीईईओ को स्कूल समय के बाद महीने में जरूरत के हिसाब से दो तीन बार बैठक भी लें। ताकि ब्लॉक वाइज शिक्षा में सुधार हो और जिले में सरकारी स्कूलों को लेकर और अच्छा माहौल बने। जिला कलेक्टर ने भामाशाहों और स्कूल की प्रतिभाओं का सम्मान करने को लेकर संगरिया और नोहर की तरह ही सभी ब्लॉक मुख्यालय पर ब्लॉक स्तरीय सम्मान समारोह आयोजित करने के निर्देश दिए।सीडीईओ रामेश्वर लाल गोदारा ने बताया कि अगस्त माह में जिले की रैंकिंग एक पायदान चढ़ते हुए 12 वें से 11 वें स्थान पर आ गई है।
महिला एवं बाल विकास विभाग से जुड़े तीन कार्यों पर रहे फोकस।
जिला कलेक्टर ने सरकारी स्कूल में शिफ्ट हुई आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पोषण वाटिका विकसित करने, राज्य सरकार द्वारा एनीमिया मुक्ति को लेकर प्रत्येक मंगलवार को शक्ति अभियान के तहत बच्चों को आयरन और फोलिक एसिड की टेबलेट देकर डेटा को पोर्टल पर अपलोड करने और 6 से 12 कक्षा की बच्चियों को स्कूल और आंगनबाड़ी केन्द्रों पर उड़ान योजना अंतर्गत सेनेटरी नैपकिन जनप्रतिनिधियों, एसडीएमसी सदस्यों इत्यादि की उपस्थिति में वितरित करने व उनकी फोटो अपलोड करने के निर्देश दिए। 
शहरी क्षेत्र में किराए पर चल रही आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए बने एक सरल चेकलिस्ट।
बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक प्रवेश सोलंकी ने बताया कि राज्य सरकार ने शहरी क्षेत्र में किराए पर चल रही आंगनबाड़ी केंद्रों का किराया 1 हजार से बढ़ाकर 4 हजार तक कर दिया। लेकिन जटिलताओं के चलते एक भी आंगनबाड़ी केन्द्र पर इसे लागू नहीं किया जा सका। जिला कलेक्टर ने एसई पीडब्ल्यूडी को हाथ से बनाए नक्शे पर मकान मालिक व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साइन को मान्य करते हुए जिले भर के लिए एक सरल चेक लिस्ट जारी करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला कलेक्टर ने राज्य में शिक्षा के बढ़ते कदम, नवभारत साक्षर कार्यक्रम, ज्ञान संकल्प पोर्टल, मिशन ज्ञान, व्यावसायिक शिक्षा, विद्यादान कोष,आदर्श और उत्कर्ष विद्यालय समेत विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा करते हुए संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देशित किया। साथ ही समसा के अंतर्गत डीएमएफटी फंड, एमएलए लैड, मुख्यमंत्री जन सहभागिता कार्यक्रम इत्यादि से संबंधित निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्माण कार्य  क्वालिटी के साथ समय पर पूरा करने व पूरे हुए कार्यों का लोकार्पण करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला कलेक्टर ने नोहर, भादरा और पीलीबंगा में 2-2 करोड़ की लागत से बन रहे केजीबी हॉस्टल निर्माण को लेकर भी समीक्षा की। बैठक में जिला कलेक्टर ने मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना के अंतर्गत मंगलवार और शुक्रवार को बच्चों को दूध पिलाने और दूध के सही वितरण को लेकर सभी सीबीईओ को निर्देशित किया वे पीईईओ को वीसी के जरिए इसकी पूरी जानकारी दे कि किस प्रकार दूध को तैयार कर वितरण करना है। पीलीबंगा में कई बिंदुओं पर प्रोग्रेस नहीं आने पर जिला कलेक्टर ने सीबीईओ पीलीबंगा को जिला कलेक्टर ने निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्र के नीचे के पांच पीईईओ को 17 सीसीए का नोटिस जारी करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack