गहलोत के मंत्री के ठिकानों पर आईटी की रेड, करोड़ों की नकदी और लॉकर्स की चाबियां बरामद।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मिड डे मील आपूर्ति में गड़बड़ी और अनियमितताओं की सूचनाओं पर आयकर विभाग ने छापेमार कार्रवाई को अंजाम दिया है। बुधवार को शुरू हुई आयकर विभाग की छापेमार कारवाई के पांचवें दिन यानी रविवार को करोड़ों की टैक्स चोरी उजागर हुई है। कार्रवाई से अब तक करीब 110 करोड़ रुपये की आयकर चोरी उजागर हुई है। पांचवें दिन अधिकतर ठिकानों पर आयकर छापा खत्म हो गया है।दरअसल आयकर विभाग ने बुधवार को मंत्री राजेंद्र यादव और उनके परिजनों समेत अन्य ठिकानों पर छापेमारी शुरू की थी। 
राजस्थान और उत्तराखंड में बड़ी संख्या में काली कमाई से जुड़े दस्तावेज मिले हैं। जब्त किए गए दस्तावेजों में वित्तीय अनियमितताएं सामने आई है। कारोबारी कमलजीत राणावत, सतीश मूलचंद व्यास के ठिकानों से भी दस्तावेज जब्त किए गए हैं। आयकर विभाग की टीम ने करीब पौने दो करोड़ रुपये की नकदी और आभूषण अटैच किए हैं। सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग की टीम ने राजस्थान, उत्तराखंड, महाराष्ट्र, हरियाणा में करीब 53 से अधिक ठिकानों पर छापामार कार्रवाई को अंजाम दिया है।कारोबारियों के करीब एक दर्जन बैंक लॉकर्स खोलना अभी शेष हैं। बैंक लॉकर्स खुलने के बाद काली कमाई की राशि और भी ज्यादा बढ़ सकती है। सूत्रों के अनुसार करदाताओं ने करीब 100 करोड़ रुपये का आयकर चुकाने की स्वीकृति देने की बात कही है। वहीं, आयकर अधिकारी जब्त किए गए दस्तावेज के आधार पर करीब 110 करोड़ से अधिक की काली कमाई उजागर किए जाने का दावा कर रहे हैं। बैंक लॉकर्स में निवेश से संबंधित दस्तावेज, ज्वेलरी, नकदी बरामद होने की उम्मीद है। जिसके बाद काली कमाई की राशि में बढ़ोतरी हो सकती है। राजधानी जयपुर की बात की जाए तो जयपुर में सी स्कीम, बनीपार्क, विश्वकर्मा, मालवीय नगर, सहकार मार्ग समेत अन्य जगह पर छापेमार कार्रवाई की गई है। वहीं, प्रदेश में जयपुर के अलावा भीलवाड़ा, कोटपूतली, बहरोड़, पाली में छापामार कार्रवाई की गई है। सोमवार को शेष रहे बैंक लॉकर्स को खोलने की तैयारी की जा रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack