लंपी रोग को लेकर भाजपा कर रही है ढोंग-सीएम गहलोत।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पिछली बार भाजपा ने राज्यपाल को मजबूर किया था इतिहास में आज तक ऐसा कभी नहीं हुआ कैबिनेट आग्रह करती है और राज्यपाल को सत्र बुलाना पड़ता है। लेकिन पिछली बार बार-बार आग्रह के बावजूद सत्र को नहीं बुलाया जा रहा था क्योंकि भाजपा ने राज्यपाल को इशारा कर रखा था। सीएम गहलोत ने कहा कि कई बार खुद राज्यपाल सरकार को आदेश देते हैं कि वो सदन में अपना बहुमत सिद्ध करें इसलिए कांग्रेस सरकार लगातार राज्यपाल से आग्रह कर रही थी लेकिन सत्र नहीं बुलाया जा रहा था। सीएम गहलोत ने कहा कि हमने जानबूझकर सत्र का सत्रावसान नहीं किया। सीएम गहलोत ने लंपी रोग को लेकर कहा कि लंपी रोग को लेकर भाजपा केवल ढोंग कर रही है, गहलोत सरकार गायों को लेकर संवेदनशील है इसीलिए हमने 15 अगस्त को ही विपक्ष के नेताओं के साथ-साथ भामाशाह,धर्मगुरुओं और समाजसेवियों की बैठक ली थी। गायों को बचाना सरकार की प्राथमिकता है कि लंपी रोग से गायों को कैसे बचाया जाए लेकिन दवाइयां और वैक्सीन केंद्र सरकार को देनी है इसलिए हम लगातार केंद्र सरकार से लंपी रोग को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग कर रहे हैं। भाजपा के विधायकों को चाहिए कि वो इस मुहिम में हमारा साथ दें न कि लंपी रोग पर राजनीति करें। सीएम गहलोत ने केंद्र सरकार की ओर से देश में लाए गए चीतों को लेकर कहा कि चीता प्रोजेक्ट यूपीए सरकार की देन है। तत्कालीन मंत्री जयराम रमेश अफ्रीका गए थे लेकिन उस वक्त किन्ही कारणों के चलते यह प्रोजेक्ट रुक गया था और लंबे समय के बाद अब चीते देश में आए हैं। जिसका सभी ने स्वागत किया है।  उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट्स भी इनको लेकर अपनी राय रख रहे हैं। अब देखना यह है कि इन चीतों को यहां का माहौल रास आता भी है या नहीं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack