किसानों को कृषि कनेक्शन प्राथमिकता से हो जारी, जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ होगा एक्शन।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
प्रमुख शासन सचिव उर्जा एवं अध्यक्ष डिस्काम्स भास्कर ए. सावंत ने वीडियों कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से तीनों डिस्कॉम में विभिन्न योजनाओं एवं कार्यों में जुलाई, 2022 तक हुई प्रगति की समीक्षा की। वीडियों कॉन्फ्रेन्स में जयपुर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक अजीत कुमार सक्सेना, अजमेर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक एन. एस. निर्वाण, जोधपुर डिस्कॉम के प्रबंध निदेशक प्रमोद टांक, निदेशक तकनीकी व वित्त, मुख्य अभियन्ता, अधीक्षण अभियन्ता उपस्थित रहे।प्रमुख शासन सचिव उर्जा एवं अध्यक्ष डिस्काम्स ने तीनों डिस्कॉम्स में कृषि कनेक्शन जारी करने, टीएण्डडी व एटीएण्डसी लॉस, राजस्व वसूली, डिफेक्टिव मीटर्स की स्थिति सहित विभिन्न कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि मार्च, 2022 की तुलना में चालू वित्तीय वर्ष में माह जुलाई तक हुई प्रगति संतोषप्रद नही है। समीक्षा बैठक के दौरान विभिन्न पेरामीटर्स में कमजोर प्रदर्शन वाले 7 सर्किल अधीक्षण अभियन्ताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही करने के निर्देश प्रदान किए।  उन्होंने सभी सर्किल अधीक्षण अभियन्ताओं को निर्देश दिए कि सिस्टेमेटिक तरीके से प्रभावी मॉनीटरिंग करते हुए स्थिति में सुधार लाया जाए अन्यथा आगामी कमजोर प्रदर्शन के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।
कृषि कनेक्शन जारी करने के कार्य में आएगी तेजी।
सावंत ने तीनों डिस्कॉम में कृषि कनेक्शन जारी करने के कार्य में जुलाई माह तक हुई प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि लक्ष्य के अनुसार कनेक्शन जारी करने के कार्य को तेजी से पूरा करने के लिए विशेष प्रयास किए जाए। कृषि कनेक्शन जारी करने के कार्य को गति प्रदान करने के लिए  मुख्यालय स्तर से शीघ्र ही तीनों डिस्कॉम में दो-दो टीम बनाई जाएगी। ये टीमे फील्ड में जाकर कृषि कनेक्शन जारी करने के कार्य का सत्यापन करेगी और जिस क्षेत्र में कार्य सुस्त गति से होता हुआ पाया जाएगा तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। यह कार्य 21 सितम्बर से शुरु होकर 5 अक्टूबर तक चलेगा। उन्होंने कहा कि इस कार्य को गति प्रदान करने के लिए डिस्कॉम स्तर पर भी मीटिंग आयोजित कर साप्ताहिक रुप से इसकी समीक्षा की जाए, जिससे कृषि कनेक्शन के लक्ष्य को नवम्बर माह से पहलें पूरा किया जा सके। उन्होंने सर्किलवार टीएण्डडी व एटीएण्डसी लॉस व राजस्व वसूली वसूली के कार्य की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि फीगर्स इम्पू्रव करने के लिए मार्च तक का इंतजार करने के स्थान पर  वित्तीय वर्ष के प्रारम्भ से ही लॉस कम करने एवं राजस्व वसूली के प्रयास किए जाए तो निर्धारित लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त किया जा सकता हैं। डिफेक्टिव मीटर्स को बदलने की स्थिति की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिए कि डिफेक्टिव मीटर्स की संख्या नही बढनी चाहिए इससे डिस्कॉम का राजस्व प्रभावित होता है। इसके साथ ही पूर्व में दिए गए निर्देशों की पालना, जिसमें बिल पाइन्ट रीडिंग, वीसीआर निस्तारण की एमनेस्टी योजना, निगेटिव टीएण्डी लॉस व पीडीसी रिकवरी आदि की समीक्षा भी की गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack