मरुधरा ग्रामीण बैंक की मोबाइल एटीएम वैन को जिला कलेक्टर ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना।

हनुमानगढ़-विश्वास कुमार 
हनुमानगढ़ जिले में वितीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए नाबार्ड द्वारा प्रदत मोबाइल एटीएम वैन को जिला कलेक्टर नथमल डिडेल ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट परिसर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर जिला कलेक्टर ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि नाबार्ड द्वारा वित्त पोषित मोबाइल एटीएम वैन को रवाना किया गया है। जिसमें राजस्थान मरूधरा ग्रामीण बैंक का एटीएम लगा हुआ है।यह वैन सुदूरवर्ती गांवों में और उन ग्राम पंचायतों में विजिट करेगी जहां एटीएम नहीं है या बीसी नहीं है। गांवों में रूककर गांव के लोगों को वित्तीय साक्षरता एवं वित्तीय समावेशन के संबंध में विभिन्न प्रकार के लोन, स्कीम इत्यादि की जानकारी दी जाएगी। साथ ही जिन्हें कैश निकालना होगा वे कैश भी निकाल सकेंगे।नाबार्ड के डीडीएम दयानंद काकोड़िया ने बताया कि नाबार्ड द्वारा वित्त पोषित मरूधरा ग्रामीण बैंक को मोबाइल एटीएम वैन प्रदान की गई है। जिसमें डिजिटल बैंकिंग से ग्रामीण क्षेत्र में बैंकिंग सुविधाएं एवं वित्तीय समावेशन नीति के तहत बहुत सी सुविधाओं का लाभ मिलेगा। नाबार्ड द्वारा लगभग प्रत्येक जिले को एक मोबाइल एटीएम वैन ग्रामीण बैंकों को दी गई है। उन्होने बताया कि वित्तीय समावेशन नीति को लागू करने को लेकर नाबार्ड हर संभव प्रयास कर रहा है। इससे जिले में वित्तीय सुविधाओं को और बढ़ावा मिलेगा। आरएमजीबी बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक अजय कस्वां ने बताया कि इस मोबाइल एटीएम वैन के माध्यम से गांव के हर कोने तक बैंकिंग को पहुंचाना है। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में एटीएम के माध्यम से बैंकिंग लेनदेन, डिजिटल बैंकिंग, वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन करना, सामाजिक सुरक्षा  योजनाओं (APY, PMJJBY, PMSBY) की जानकारी देना, ग्रामीण क्षेत्र में बैंकिंग सुविधा मुहैया कराने और बैंक के रिटेल बैंकिंग उत्पादों एवं सुविधाओं को जनमानस तक पहुंचाया जायेगा। इस अवसर पर जिला कलेक्टर के अलावा नाबार्ड के डीडीएम दयानंद काकोडिया, आरएमजीबी बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक अजय कस्वां, एलडीएम एसबीआई  राजकुमार, पूर्व क्षेत्रीय प्रबंधक अयूब खान इत्यादि उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack