अग्रिम संगठनों से दफ्तर खाली कराया तो मंत्री चांदना ने जताई नाराजगी, सीएम गहलोत को लिखा पत्र।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जयपुर में कांग्रेस के तीन अग्रिम संगठनों से कलेक्ट्रेट के पास एनएसयूआई, सेवादल और यूथ कांग्रेस के मौजूदा दफ्तरों को सरकार ने खाली करवा लिया है। खेल राज्यमंत्री और पूर्व युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चांदना ने इस पर सवाल उठाते हुए सीएम अशोक गहलोत को पत्र लिखकर विरोध जताया है। चांदना ने सीएम को पत्र में लिखा की कांग्रेस के अग्रिम संगठन सेवादल, यूथ कांग्रेस और एनएसयूआई के बनीपार्क हैडक्वार्टर को खाली करवाने की सूचना से मन दुखी है। मेरा मानना है कि यह तीनों ही संगठनों और उनके कार्यकर्ताओं के साथ न्याय नहीं है। कार्यकर्ताओं की भावनाओं को देखते हुए इस पर संज्ञान लेना चाहिए। चांदना ने सीएम गहलोत से पूरे मामले में दखल देने की मांग की है। अब अशोक चांदना ने अग्रिम संगठनों के दफ्तर खाली करवाने पर सवाल उठाकर फिर सियासी चर्चाएं छेड़ दी हैं। कांग्रेस सेवादल, यूथ कांग्रेस और एनएसयूआई के बनीपार्क के दफ्तर खाली करवाकर इसका कब्जा पीडब्ल्यूडी को दिया है। इसके बाद अब तीनों संगठनों के पास अब खुद का दफ्तर नहीं रह गया है। पहले कांग्रेस ने अस्पताल रोड पर बंगला आवंटित करवाने के लिए कलेक्ट्रेट के पास तीनों अग्रिम संगठनों के दफ्तर सरेंडर करने करने का फैसला किया। अस्पताल रोड पर कांग्रेस के नाम दफ्तर के लिए बंगला अलॉट हो गया, लेकिन अब पार्टी वहां पर वॉर रूम बनाने जा रही है। इस वजह से अग्रिम संगठनों को वहां दफ्तर नहीं मिलेगा।प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के लिए मानसरोवर में सरकार ने जमीन अलॉट करने का फैसला किया है। पहले कांग्रेस ने अग्रिम संगठनों के मुख्यालय वाला बंगला पीडब्ल्यूडी को सरेंडर किया। इसके बदले अस्पताल रोड पर बंगला लिया। जब अग्रिम संगठनों का दफ्तर खाली हो गया तो पार्टी ने अस्पताल रोड के बंगले पर फिलहाल पार्टी का वॉर रूम बनाने का फैसला करके अग्रिम संगठनों को नई जगह शिफ्ट होने से रोक दिया। फिलहाल अग्रिम संगठनों को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में ही अस्थायी तौर पर जगह दी जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack