डीएमआईटी मेमोरी कार्यशाला का हुआ आयोजन।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
बच्चों की प्रतिभा को पहचानने के साथ सही दिशा प्रदान करने के उद्देश्य से आज एस एम फाउंडेशन की ओर से यूरोपियन इंटरनेशनल स्कूल में डीएमआईटी मेमोरी की कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसके बारे में जानकारी देते हुए एसएम फाउंडेशन डॉक्टर कमल शर्मा ने बताया कि विगत 6 सालों से एसएम फाउंडेशन की ओर से बच्चों की मानसिक स्थिति को जानकर उन्हें सही दिशा प्रदान करने के उद्देश्य से डीएमआईटी के माध्यम से उनके मेमोरी, मिड ब्रेन की कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें राजस्थान में 1500 अधिक विद्यालयों में इन कार्यशाला का आयोजन किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिस तरह से सोशल मीडिया और मोबाइल के आधुनिक युग में बच्चों का मानसिक झुकाव तेजी के साथ इनकी ओर आकर्षित हो रहा है,जो कि अच्छा संकेत नहीं है और इसी उद्देश्य को लेकर वह अब तक 6 राज्यों में बच्चों की मानसिकता को बदल कर सही रास्ते पर लाने का सफल प्रयास किया  हैं। उन्होंने बताया कि वे बच्चों की 7 दिनों मे 2 घंटे प्रतिदिन के कक्षा लेते हैं जिसमें बच्चे के ब्रेन की डीएमआईटी के माध्यम से जांच करके उसकी मानसिक स्थिति की पहचान करने के बाद कोचिंग शुरू की जाती है। इसके बारे में जानकारी देते हुए डॉ कमल सहाय ने बताया कि जिस तरह से आज भागदौड़ की जिंदगी में अभिभावक अपने बच्चों पर पूरी तरह से ध्यान नहीं दे रहे हैं और इसी के कारण बच्चों की मानसिक स्थिति पर भी इसका प्रभाव देखा जा सकता है। और वर्तमान युग में जिस तरह से सोशल मीडिया ने बच्चों के दिमाग में घर किया हुआ है उसको देखते हुए एसएम फाउंडेशन की ओर से 7 दिन की कक्षाएं संचालित कर बच्चों को सही राह और उनकी मानसिक स्थिति को संतुलित करके अपने लक्ष्य पर ध्यान देने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इस अवसर पर यूरोपियन इंटरनेशनल स्कूल के संस्था प्रधान ज्ञान सागर जैन, ओम प्रकाश गर्ग, कमलकांत सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack