राजस्थान स्टेट कॉन्क्लेव का आयोजन, चुने गए स्टार्टअप्स होंगे नेशनल कॉन्क्लेव में शामिल।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग की पहल से इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (ESC) और सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया द्वारा राजस्थान स्टेट कॉन्क्लेव का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में लगभग 150 स्टार्टअप, उद्यमी एवं ESC,STPI  के गणमान्य व्यक्ति और राज्य सरकार के अधिकारी शामिल हुए। सम्मेलन आयोजित करने का उद्देश्य स्टार्टअप समिट्स - बिल्डिंग द नेक्स्ट यूनिकॉर्न के लिए मंच तैयार करना है और यह सुनिश्चित करना कि तकनीकी स्टार्टअप, उद्यमी और सरकारी विभाग इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल और सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया द्वारा की गई इस पहल से अवगत हो। 
सम्मेलन में पीएसी के अध्यक्ष संदीप नरूला ने कहा कि ईएससी और एसटीपीआई का अग्रणी प्रयास स्टार्टअप को एक मजबूत आधार और बढ़ावा देना है। इसके साथ ही अधिक रोजगार पैदा करने और राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद में आईटी क्षेत्र के योगदान को बढ़ाने के लिए देश में स्टार्टअप आंदोलन को फलने फूलने और प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका में अपने समकक्षों के साथ संपर्क को बढ़ावा देना चाहिए। डीओ आईटी के आयुक्त आशीष गुप्ता ने मुख्य अतिथि के रुप में शिरकत की और विदेशों में स्टार्टअप की पहचान स्थापित करने एवं उनके विस्तार करने के उद्देश्य की इस अग्रणी पहल पर उसका व्यक्त किया। सम्मेलन में आईस्टार्ट प्रोग्राम मैनेजर अमित पुरोहित द्वारा संचालित "Navigating The Path to a successful Startup"  विषय पर एक पैनल चर्चा आयोजित की गई जिसमें विजन स्प्रिंग भारत के निदेशक अंशु तनेजा, जो वर्ल्ड के सह संस्थापक धर्मवीर सिंह चौहान, आई फार्म वेंचर्स के पार्टनर निलोत्पल पाठक, सिटीफर्निश के संस्थापक नीरज जैन और एसटीपीआई के निदेशक सुबोध सचान भी उपस्थित रहे। जिसमें उनमें से प्रत्येक ने बढ़ते भारतीय स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र पर व्यवहारिक दृष्टिकोण साझा किया और अपनी उद्यमशीलता की यात्रा साझा की और नवोदित स्टार्टअप को सुझाव दिए। ईएससी राजस्थान चौप्टर के संयोजक सुशील शर्मा द्वारा "startup valuation from investor perspective" विषय पर संचालित फायर साइड चौट ने प्रत्येक सहभागी स्टार्टअप का ध्यान आकर्षित किया । स्टार्टअप्स को पैनल से विशेषज्ञ सलाह और फीडबैक भी मिला कि कैसे अपने व्यवसाय के विफल होने के जोखिम को कम किया जाए और अपनी कंपनियों को कैसे विकसित किया जाए। दूसरे सत्र में चुने गए 48 इन्नोवेटिव टेक स्टार्टअप्स में से मौजूद स्टार्ट अपने जूरी सदस्यों के समक्ष राज्य स्तर पर शॉर्टलिस्ट किए जाने के लिए प्रतिस्पर्धा की, जिसमें टॉप 5 स्टार्टअप्स को सर्टिफिकेट प्रदान किए गए। स्टेट कॉन्क्लेव से चुनी गई स्टार्टअप्स को नेशनल कॉन्क्लेव में प्रख्यात जूरी पैनल द्वारा चयन के अंतिम दौर में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाएगा। चयनित स्टार्टअप्स को यूएसए के लिए ट्रैवल ग्रांट और यूएसए इन्वेस्टर्स और वेंचर कैपिटल लिस्ट के साथ प्रीफिक्स्ड मीटिंग के अलावा यूएसए में ग्लोबल टेक्नोलॉजी स्टार्टअप्स के साथ नेटवर्किंग प्रदान की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack