आज राहुल को मनाने की आखिरी कोशिश करेंगे गहलोत, ना मानने पर भरेंगे अध्यक्ष का नामांकन।


जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि बुधवार को मैं दिल्ली और इसके बाद कोचिंन जाकर राहुल गांधी से कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए आग्रह करूंगा। यदि वे नहीं माने तो 3 दिन बाद अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करूंगा। मुख्यमंत्री के सरकारी निवास पर विधायक दल की बैठक में विधायकों को यह संदेश दिया। सीएम गहलोत ने बैठक में कहा कि मैं आखिरी बार राहुल गांधी से मिलकर उन्हें मनाने का प्रयास करूंगा, अगर राहुल नहीं माने तो फिर हाईकमान का जो आदेश होगा, उसके लिए आपको तकलीफ दूंगा। सीएम गहलोत के यह कहने पर बैठक में कई विधायकों ने कहा कि आपको यहीं पर रहना है। इस पर गहलोत ने कहा कि मैं कुछ भी बन जाऊं, लेकिन आपसे दूर नहीं रहूंगा, अंतिम सांस तक राजस्थान की सेवा करूंगा। दरअसल गहलोत बुधवार सुबह दिल्ली दौरे पर जा रहे हैं। दिल्ली में गहलोत वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे। शाम को दिल्ली से केरल के कोच्चि जाएंगे। गहलोत राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे और सिंबोलिक रूप से यात्रा में शामिल होंगे। सीएम गहलोत राहुल को अध्यक्ष पद पर नामांकन भरने के लिए मनाने का प्रयास कर सकते हैं। सीएम गहलोत ने बैठक में खुद इसके संकेत दिए हैं। राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की मांग पर डेलिगेट्स की बैठक में गहलोत हाथ खड़े करवा कर प्रस्ताव पारित करवा चुके हैं। सीएम गहलोत के इस संदेश के बाद से विधायक दिल में यह चर्चा जोरों पर होने लगी कि अब सीएम गहलोत बुधवार को पहले सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकते हैं ।इसके बाद वे राहुल गांधी से मिलने के लिए कोचिंन जाएंगे । वह राहुल गांधी से आग्रह करेंगे कि कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन करें। यदि राहुल गांधी ने उनका आग्रह नहीं माना तो वे 26 या 27 सितंबर को अध्यक्ष पद के लिए नामांकन कर सकते हैं। अब सवाल यह उठता है कि सीएम गहलोत वर्ष 2023-24 का बजट प्रस्तुत करेंगे या नहीं। यही नहीं क्या वे मुख्यमंत्री पद छोड़ देंगे । राज्य में कौन नया सीएम बनेगा इसकी चर्चा भी अब दबी जुबान से जोरों पर होने लगी है। सीएम अशोक गहलोत बुधवार को प्रातः काल 10:00 बजे दिल्ली दौरे पर जा रहे हैं। दिल्ली दौरे से पहले विधायक दल की बैठक बुलाने के राजनीतिक संदेश देने के लिए विधायक दल की बैठक बुलाई गई। उल्लेखनीय है कि 17 सितंबर को नए बने पीसीसी मेंबर्स की बैठक में गहलोत ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की राय पर हाथ खड़े करवाए थे। सभी नेताओं ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के प्रस्ताव का समर्थन किया था। इधर कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव से पहले पार्टी में सरगर्मियां बढ़ गई है। 24 से 30 सितंबर तक अध्यक्ष पद पर नामांकन होने हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack