शफाखाने का मुख्य रास्ता बना तालाब, जिम्मेदार बने लापरवाह।

सपोटरा-विनोद कुमार जांगिड़।
सपोटरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का मुख्य रास्ता इन दिनों तालाब बना हुआ है। लेकिन जिम्मेदार अधिकारी इस और कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिसके कारण आमजन राहगीर और इलाज के लिए अस्पताल आने वाले मरीजों में प्रशासन के प्रति रोष व्याप्त है।जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा की जा रही अनदेखी के चलते सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सपोटरा के मुख्य रास्ते में इन दिनों सपोटरा कस्बे का गंदा दूषित पानी बह रहा है।
जिसके कारण मुख्य रास्ता तालाब रूपी रास्ते में तब्दील हो गया है वही दूरदराज से आने वाले मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा नहीं है कि अस्पताल चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर हंसराज मीना ने जिम्मेदार अधिकारियों को मरीजों के लिए नासूर बनी हुई समस्या के बारे में अवगत नहीं करवाया हो। इसके बावजूद भी जिम्मेदार अधिकारी गहरी नींद में सो रहे हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सपोटरा चिकित्सा अधिकारी हंसराज मीणा द्वारा उपखंड अधिकारी, नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को चिकित्सालय के मुख्य रास्ते में नाली के गंदे पानी आने के कारण मरीजों को दूषित गंदे पानी में होकर गुजरने की समस्या से निजात दिलाने के लिए पत्र भी लिखा जा चुका है। पत्र में बताया गया है कि मेन रोड से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सपोटरा के लिए आने वाले रास्ते में सपोटरा कस्बे की नाली का गंदा पानी आ रहा है जो चिकित्सालय के मेनगेट आम रास्ते में भरा हुआ है तथा इलाज के लिए आने वाले मरीजों को रास्ते में नासूर रूपी गहरे गड्ढों में होकर गुजरना पड़ता है। जिसके कारण कई बार तो मरीज गंदे दूषित पानी में गिरकर चोटिल हो जाते हैं। वहीं अस्पताल कर्मचारियों सहित आमजन के लिए गहरे गड्ढे और दूषित पानी भराव की समस्या नासूर बनी हुई है। चिकित्सा प्रभारी ने नाली के आ रहे गंदे दूषित पानी को रुकवाने के साथ-साथ मुख्य रास्ते में बने हुए गहरे गड्ढे में मोरम डलवाने की मांग करते हुए कहा है कि शीघ्र ही गंदे दूषित जल भराव के पानी से निजात दिलाई जाए ताकि आमजन राहगीर और मरीजों को समस्या से निजात मिल सके।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack