राजस्थान पीसीसी ने प्रदेश अध्यक्ष के फैसला आलाकमान पर छोड़ा।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
कांग्रेस संगठन चुनाव के मद्देनजर चयनित पीसीसी मेंबर की प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में हुई बैठक में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और एआईसीसी मेंबर का फैसला पार्टी आलाकमान पर छोड़ा गया है। कांग्रेस के संगठन चुनाव प्रभारी राजेंद्र सिंह कुंपावत की मौजूदगी में पीसीसी अध्यक्ष और एआईसीसी मेंबर का फैसला सर्वसम्मति से पार्टी आलाकमान पर छोड़ा गया है। प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने बैठक में प्रस्ताव रखा और उसके बाद पीसीसी सदस्यों ने हाथ उठाकर प्रस्ताव का समर्थन किया और फैसला कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर छोड़ दिया। हालांकि दिलचस्प बात यह है कि प्रदेश कांग्रेस की ओर से 400 पीसीसी मेंबर बनाए गए थे लेकिन आधे पीसीसी मेंबर बैठक में नहीं पहुंचे। जिन्हें लेकर भी सियासी गलियारों में चर्चाएं तेज हैं।
सब की मंशा राहुल गांधी अध्यक्ष बने। 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हम सब की भावना यही है कि राहुल गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनना चाहिए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की इस बात का प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने भी समर्थन किया, जिसके बाद पीसीसी सदस्यों ने भी हाथ उठाकर सीएम गहलोत की बात का समर्थन किया। बताया जाता है कि यह कोई आधिकारिक प्रस्ताव नहीं था कांग्रेस नेताओं ने केवल अपनी भावना व्यक्त की थी।
कल्ला को छोड़ पूर्व अध्यक्ष नहीं आए बैठक में।
बड़ी बात यह भी है कि चयनित पीसीसी सदस्यों की बैठक में बीडी कल्ला को छोड़कर कोई भी पूर्व अध्यक्ष नहीं पहुंचे। सचिन पायलट, गिरिजा व्यास,नारायण सिंह और डॉ चंद्रभान भी पीसीसी की बैठक में शामिल नहीं हो पाए। हालांकि सीपी जोशी विधानसभा स्पीकर होने के नाते बैठक से दूर रहे।
200 से ज्यादा पीसीसी मेंबर नहीं पहुंचे बैठक में।
पीसीसी मेंबर्स का चुनाव होने के बाद प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में यह पहली बैठक थी। लेकिन 400 में से 200 से ज्यादा पीसीसी मेंबर नहीं पहुंचे, उन्हें लेकर भी सियासी गलियारों में कई तरह की चर्चाएं चल पड़ी है। इससे पहले शुरू हुई बैठक तकरीबन एक घंटे तक चली जिसमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने निर्वाचित पीसीसी सदस्यों को बधाई भी दी। बैठक के बाद प्रदेश प्रभारी अजय माकन और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि बैठक में सिंगल लाइन का आधिकारिक फैसला लिया गया है जिसमें पीसीसी चीफ और एआईसीसी मेंबर चुनने का फैसला पार्टी आलाकमान पर छोड़ा गया है। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि हम सभी की मंशा है कि राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष होने चाहिए और सब ने हाथ खड़े कर के इसका समर्थन किया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack