राजस्थान विधानसभा में शोकाभिव्यक्ति।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
पंद्रहवीं राज्य विधानसभा के पुनः शुरू हुए सप्तम सत्र के पहले दिन सोमवार को विधानसभा में पूर्व सांसद थानसिंह जाटव, पूर्व विधायक आदराम मेघवाल, इन्दिरा मायाराम, पराक्रम सिंह, भरतलाल एवं जयकृष्ण तोसावड़ा के निधन पर संवेदना व्यक्त करते हुये श्रद्धांजलि अर्पित की गई। सदस्यों ने दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत की आत्माओं की शांति और उनके परिजनों को इस बिछोह को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की। प्रारम्भ में विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी. जोशी ने शोक प्रस्ताव रखते हुए दिवंगत व्यक्तियों द्वारा राजनीतिक, सामाजिक एवं अन्य क्षेत्रों में दी गई सेवाओं की सराहना की। डॉ. जोशी ने पूर्व सांसद थानसिंह जाटव के व्यक्तित्व की चर्चा करते हुए कहा कि वे नौवीं लोकसभा में बयाना संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से सांसद रहे। अपने कार्यकाल के दौरान वे विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा श्रम मंत्रालय से समिति के सदस्य रहे। समाज कल्याण के कार्यों में रुचि रखने वाले जाटव अखिल भारतीय अनुसूचित जाति जनजाति, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कर्मचारी फैडरेशन की राजस्थान शाखा के अध्यक्ष सहित अनेक सामाजिक संगठनों से सम्बद्ध रहे। जाटव का निधन 5 सितम्बर 2022 को हुआ।
डॉ. जोशी ने कहा कि पूर्व विधायक आदराम मेघवाल ग्यारहवीं विधानसभा में टिब्बी तथा तेरहवीं विधानसभा में पीलीबंगा निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए। विधानसभा के कार्यकाल के दौरान मेघवाल अनुसूचित जाति कल्याण समिति , पुस्तकालय समिति तथा नियम समिति के सदस्य रहे। आदराम मेघवाल का निधन 16 अगस्त 2022 को हो गया।
विधानसभा अध्यक्ष ने पूर्व राज्यमंत्री एवं पूर्व विधायक इन्दिरा मायाराम के राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वे दसवीं तथा ग्यारहवीं विधानसभा में सांगानेर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुईं। वे वर्ष 1998 से 2002 तक राज्य सरकार में परिवार कल्याण, आयुर्वेद, आबकारी, वित्त, देवस्थान, मत्स्य पालन एवं इन्दिरा गांधी नहर परियोजना विभाग की राज्य मंत्री रही। अपने सार्वजनिक जीवन में मायाराम राजस्थान समाज कल्याण बोर्ड, राजस्थान खेलकूद परिषद एवं राजस्थान अल्प बचत योजना सलाहकार बोर्ड सहित अनेक समितियों की सदस्य रहीं। इन्दिरा मायाराम का निधन 16 जुलाई 2022 को हो गया। डॉ. जोशी ने पूर्व विधायक पराक्रम सिंह के व्यक्तित्व पर चर्चा करते हुए बताया कि वे दसवीं विधानसभा में बनेड़ा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए। विधानसभा कार्यकाल के दौरान वे प्राक्कलन समिति ’क’ के सदस्य रहे। वन एवं पशुओं की दशा सुधारने के लिए सदैव प्रयत्नशील रहे। सिंह का निधन 4 अगस्त, 2022 को हो गया।   
विधानसभा अध्यक्ष ने पूर्व राज्यमंत्री एवं पूर्व विधायक भरतलाल के बारे में बताया कि वे तीसरी, पाँचवीं, सातवीं एवं आठवीं विधानसभा के सदस्य रहे। वे फरवरी 1988 से जून 1989 तक राज्य सरकार में उपमंत्री तथा जून 1989 से दिसम्बर 1989 तक पुनर्वास, भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग के राज्य मंत्री रहे। विधानसभा के कार्यकाल के दौरान वे पुस्तकालय समिति, जन लेखा समिति, अनुसूचित जाति कल्याण समिति  सहित अनेक समितियों के सदस्य रहे। भरतलाल का निधन 9 अगस्त, 2022 को हो गया। 
डॉ. जोशी ने पूर्व विधायक जय कृष्ण तोसावड़ा के राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि वे पाँचवीं तथा आठवीं राजस्थान विधान सभा में विधायक रहे। अपने विधानसभा कार्यकाल के दौरान वे राजकीय उपक्रम समिति, अधीनस्थ विधान संबंधी समिति तथा याचिका समिति के सदस्य रहे। तोसावड़ा का निधन 19 मई, 2022 को हो गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack