इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का मंत्री भाटी ने किया आगाज, मनरेगा की तरह योजना के वरदान साबित होने का दावा।

डूंगरपुर-प्रवेश जैन।
डूंगरपुर जिले के डूंगरपुर नगरपरिषद क्षेत्र व सागवाडा नगरपालिका क्षेत्र में भी आज इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का शुभारम्भ हुआ। डूंगरपुर जिले के प्रभारी मंत्री भंवर सिंह भाटी ने वर्चुअल तरीके से योजना का शुभारम्भ किया। इस मौके पर प्रभारी मंत्री भाटी ने कहा की मनरेगा योजना की तरह ही इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना बेरोजगार लोगो के लिए वरदान साबित होगी। इधर योजना के शुभारम्भ के तहत जनप्रतिनिधियो व अधिकारियो ने श्रमदान भी किया। ग्रामीण क्षेत्रो में महात्मा गांधी नरेगा योजना की तरह अब शहरों में आज से  इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की शुरुआत हो गई है। डूंगरपुर नगरपरिषद की ओर से शहर के पातेला तालाब के गहरीकरण व सुद्रढिकरण कार्य के साथ इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का जिला स्तरीय शुभारम्भ कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस दौरान डूंगरपुर जिले के प्रभारी मंत्री भंवर सिंह भाटी वर्चुअल तरीके से कार्यक्रम से जुड़े। वही इसके साथ ही मौके पर राज्यमंत्री शंकर यादव, डूंगरपुर विधायक गणेश घोगरा, सभापति अमृतलाल कलासुआ, जिला कलेक्टर डॉ इन्द्रजीत यादव और आयुक्त दिलीप सिंह मौजूद रहे। इस मौके पर प्रभारी मंत्री भंवर सिंह भाटी ने वर्चुअल तरीके से कार्यक्रम को संबोधित किया। अपने संबोधन में मंत्री भाटी ने कहा की  लोगो को पहले रोजगार के लिए पलायन करना पड़ता था लेकिन पूर्ववर्ती यूपीए सरकार ने 2006 में नरेगा योजना शुरू की। जिसके तहत करोड़ो लोगो को 100 दिन का रोजगार दिया। कोरोना काल में मनरेगा योजना वरदान साबित हुई। इसी तरह वर्ष 2022 के बजट में प्रदेश के शहरी क्षेत्र के लोगो के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की घोषणा की थी। इसी योजना का आज से शुरुआत की गई है और इस योजना से पूरे राजस्थान के सभी शहरों में 100 दिन के रोजगार की गारंटी मिलेगी। इस योजना का शुरू करने वाला राजस्थान पूरे देश का पहला राज्य है। 
इस मौके पर प्रभारी मंत्री ने सरकार की अन्य योजनाओं को भी गिनाया। इस दौरान डूंगरपुर जिला कलेक्टर डॉ इन्द्रजीत यादव ने बताया की डूंगरपुर नगरपरिषद क्षेत्र में 1700 से ज्यादा जॉब कार्ड बनाए गए है। वर्तमान में योजना के तहत 26 काम होंगे जिन पर 6 करोड़ का बजट खर्च किया जाएगा। इधर कार्यक्रम को शंकर यादव और गणेश घोघरा ने संबोधित करते हुए शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाए रखने और योजना को सफल बनाने का आव्हान किया। इधर कार्यक्रम के बाद सभी जनप्रतिनिधियो व अधिकारियों ने तालाब में श्रमदान भी किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack