नगरपरिषद और संयुक्त संघर्ष समिति के बीच बनी सहमति, धरना समाप्त।

श्रीगंगानगर-राकेश मितवा।
श्रीगंगानगर के चक 6 जेड ए के कचरा प्लांट विवाद को लेकर जारी धरना जिला प्रशासन की मौजूदगी में नगर परिषद और संयुक्त संघर्ष समिति (कचरा प्लांट हटाओ) के बीच सहमति के बाद समाप्त हो गया। बैठक में मौजूद विधायक राजकुमार गौड़ ने नगर परिषद आयुक्त को निर्देश दिए कि निर्धारित समय अवधि में समझौते की पालना सुनिश्चित करने के साथ-साथ आगामी दिनों में बरसात होने के मद्देनजर बरसाती पानी की निकासी के लिए भी युद्ध स्तर पर प्रयास किए जाएं। विधायक गौड़ ने बताया कि कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में संघर्ष समिति और नगर परिषद प्रशासन के बीच सहमति बनी। सहमति के बाद जिला प्रशासन, नगर परिषद और संघर्ष समिति ने समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए।समझौते के बाद विधायक ने बताया कि कचरा निस्तारण के लिए जिला प्रशासन निरन्तर प्रतिबद्ध रहा है। कचरा प्लांट शिफ्ट करने के लिए भी जिला प्रशासन द्वारा स्थान देखे जा रहे हैं। संघर्ष समिति भी इसमें सहयोग करेगी तो समस्या जल्द खत्म हो सकती है। मौके पर विधायक ने नगर परिषद आयुक्त गुरदीप सिंह से बारिश के बाद पानी निकासी व्यवस्था की जानकारी लेते हुए निर्देशित किया कि आगामी दिनों में बरसात होने के मद्देनजर बरसाती पानी की निकासी के लिए युद्ध स्तर पर अभी से प्रयास किए जाएं। पिछले हालातों से सबक लेते हुए नगर परिषद समय रहते नालों की सफाई और मोटर/पंप आदि की व्यवस्था कर लेवे ताकि निकासी की समस्या फिर ना उपजे। जिला कलक्टर  रुक्मणि रियार सिहाग ने भी संघर्ष समिति को आश्वस्त किया कि समय रहते समझौते के तहत कार्यवाही पूर्ण करने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा। नियमित रूप से बैठकें होंगी और प्रत्येक कार्रवाई से संघर्ष समिति को अवगत करवाया जाएगा।नगर परिषद ने कचरा निस्तारण के लिए एक मशीन खरीदने के टेंडर कर दिए गए हैं। संतुष्ट होने पर दो मशीनें भी लगाई जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि अगर समझौते के अनुसार नगर परिषद द्वारा कार्रवाई न की जाए तो संघर्ष समिति उनसे मिल सकती है। संघर्ष समिति सदस्य भूप कूकना ने बैठक में समझौता पत्र पढ़कर सुनाया, जिसके बाद समिति सदस्यों और आयुक्त तथा एसडीएम मनोज कुमार मीणा ने समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर एडीएम प्रशासन डॉ. हरीतिमा, एडिशनल एसपी  जय सिंह तंवर,  तनवीर सिंह संधू, देवेंद्र सिंह राठौड़,  महावीर गोदारा, मनोनीत पार्षद गुरमीत सिंह गिल,  हरवीर बराड़,  दलजीत गिल, कृष्ण फगोड़िया,  सुरेंद्र फगोड़िया,  विनोद,  कृष्ण लाल बुडानिया, कृष्ण नैन और  मंगत राय सहित अन्य मौजूद रहे।

यह हुआ है समझौता।

समझौते के अनुसार चक 6 जेड ए में कचरा संग्रहण भूमि के स्थान पर जिले में अन्यत्र राजकीय भूमि कचरा संग्रहण के लिए चिन्हित करने एवं कचरा नहीं डालने के लिए 11 मई 2023 तक हर संभव प्रयास किए जाएंगे। राजकीय भूमि की अनुपयुक्तता की स्थिति में नगर परिषद द्वारा भूमि क्रय की व्यवस्था का पूर्ण प्रयास किया जाएगा। इसके अलावा गंगानगर नगर परिषद द्वारा हनुमानगढ़ नगर परिषद की तर्ज पर कचरा निस्तारण मशीन खरीद कर आगामी 2 महीनों में स्थापित कर कचरा निस्तारण शुरू किया जाएगा। इन दोनों बिंदुओं के क्रियान्वयन की समीक्षा के लिए एसडीएम गंगानगर की अध्यक्षता में आयुक्त नगर परिषद और संघर्ष समिति के 3 प्रतिनिधियों को शामिल करते हुए कमेटी बनाई जाएगी। कमेटी की बैठक हर माह होगी और कमेटी द्वारा पर्याप्त तार्किक आधार पाए जाने पर उक्त लिखित समय सीमा पर पुनर्विचार किया जा सकेगा। समझौते के अनुसार मृत जानवर और मेडिकल बायोवेस्ट नहीं डालने के लिए संबंधित ठेकेदार को सख्ती से पाबंद किया जाएगा। कचरा पॉइंट तक आने-जाने वाले वाहन में लाए जा रहे कचरे को तिरपाल से पूरी तरह ढक कर लाने हेतु संबंधित ठेकेदार को सख्ती से पाबंद किया जाएगा। ऐसा नहीं होने पर ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई की जाएगी। नगर परिषद द्वारा कचरा पॉइंट तक सुगम पहुंच हेतु श्याम नगर पुलिया से कचरा पॉइंट तक पक्की सड़क का निर्माण जल्दी किया जाएगा। साथ ही कचरा प्लांट की निगरानी के लिए 2 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। नगर परिषद द्वारा कचरा संग्रहण प्लांट में मक्खी, मच्छर और अन्य कीटों के रोकथाम के लिए दवाई/कीटनाशक/ फोगिंग का नियमित रूप से छिड़काव संघर्ष समिति सदस्यों की मौजूदगी में किया जाएगा। चक 6 जेड ए स्थित हड्डा रोहड़ी का मामला न्यायालय में विचाराधीन है। इसका निर्णय होने के पश्चात ही नियम अनुसार राजस्व रिकॉर्ड में इंद्राज/ दुरुस्ती की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack