खाद को लेकर किसानो ने किया हंगामा, पुलिस की समझाइश के बाद मामला हुआ शांत।

सवाई माधोपुर-हेमेन्द्र शर्मा।
सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय स्थित क्रय विक्रय सहकारी समिति पर खाद लेने आये किसानों ने उस वक्त हंगामा कर दिया जब क्रय विक्रय सहकारी समिति सदस्यों ने खाद लेने के लिए सुबह से ही लाईन में खड़े किसानों को खाद वितरण करने की बजाय खाद के कट्टे एक पिकअप में भरवा दिया । जिस पर किसानों ने क्रय विक्रय समिति पर जमकर हंगामा किया । सूचना के साथ ही कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और किसानों से समझाइस कर मामला शांत कराया।इस दौरान हंगामे के कारण करीब एक घंटे तक खाद वितरण का कार्य बंद रहा। रामड़ी निवासी किसान चतरलाल ने बताया कि वह खाद लेने के लिए सुबह से लाईन में खड़ा हुआ था। घंटो लाइन में लगने के बाद उसका खाद लेने का नम्बर आया। जिसकी रसीद भी उन्होंने कटवा ली, लेकिन  सहकारी समिति स्टॉफ ने उसे खाद नहीं दिया। जबकि एक पिकअप को खाद भरकर भेजा जा रहा । लाईन में खड़े किसानों को खाद देने की बजाए समिति स्टॉफ द्वारा खाद के कट्टे पिकअप में भर कर भेजे जा रहे है , किसानों ने इसका विरोध किया। जिसके चलते सहकारी समिति के स्टॉफ ने खाद का वितरण बन्द कर दिया। जिससे नाराज किसानों ने कालाबाजारी का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा कर दिया ।  वहीं सहकारी समिति के कार्यवाहक व्यवस्थापक रूपेश कुमार का कहना है कि खाद की कालाबाजारी के आरोप निराधार है। जितना स्टॉक में खाद है। उसके हिसाब से खाद वितरण किया जा रहा है। सहकारी समितियों पर खाद की किल्त है। जितना खाद मिल रहा है उससे अधिक किसान खाद लेने आ रहे है। ऐसे में खाद नही मिलने पर किसानों द्वारा खाद की कालाबाजारी का बेबुनियाद आरोप लगाया जा रहा है। जो सही नही है। कोतवाली थाना पुलिस ने दोनों पक्षों से समझाइस की तब जाकर मामला शांत हुआ और फिर से खाद वितरण शुरू किया गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack