कोर्ट परिसर में पुलिस के सामने दिनदहाड़े शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप विश्नोई की गोली मारकर की हत्या।

नागौर ब्यूरो रिपोर्ट।
नागौर कोर्ट परिसर में सोमवार को दिनदहाड़े कोर्ट परिसर के बाहर पुलिस के सामने ही शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप विश्नोई को गोली मार दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। संदीप नागौर जेल में ही बंद था। नागौर पुलिस गैंगस्टर संदीप को लेकर दोपहर में कोर्ट में पेशी के लिए पहुंची थी। इसी दौरान कार में आए शूटर्स ने गैंगस्टर संदीप को गोलियों मारी गई।
शूटर हरियाणा के थे। बदमाशों ने करीब 9 फायर किए। सभी शूटर ब्लैक कलर की स्कॉर्पियो में आए थे। नागौर कोर्ट के बाहर दिनदहाड़े हरियाणा के सुपारी किलर संदीप बिश्नोई की गोलियों से भूनकर हत्या करने वाले आरोपी सीसीटीवी में कैद हो गए। सीसीटीवी में आरोपी संदीप सेठी को गोली मारते हुए दिखाई दे रहे हैं। हरियाणा का सुपारी किलर संदीप सेठी उर्फ संदीप बिश्नोई सोमवार को कोर्ट में साथियों के साथ पेशी पर आया था। 
वह दोपहर को करीब एक बजे कोर्ट से बाहर निकला तभी उस पर ताबड़तोड़ फायर शुरू कर दिए। उसके सिर और सीने पर गोलियां मारी गई। वह मौके पर ही ढेर हो गया। उसके दो अन्य साथी बीच बचाव में आए, जिन पर भी हमलावरों ने गोली से फायर किए। सेठी के दो अन्य साथी भी घायल हो गए। सेठी सहित घायलों को उसके साथी पहले निजी और बाद में नागौर के जिला चिकित्सालय में लेकर गए। जेएलएन जिला चिकित्सालय में सेठी को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया है। सेठी की अभी कुछ दिन पहले ही जमानत हुई थी। संदीप हरियाणा का कुख्यात गैंगस्टर और सुपारी किलर था। वह सेठी गिरोह से जुड़ा था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार शराब तस्करी के साथ वह सुपारी किलिंग भी करता था। संदीप सेठी सुपारी लेकर बड़ी आपराधिक वारदाताें काे अंजाम देता था। नागौर के रघुवीर हत्याकांड के मामले में उसकी गिरफ्तारी हुई थी। कुछ समय पहले ही उसकी जमानत हुई थी। तस्कर राजू फौजी और गैंगस्टर संदीप बिश्नोई दोस्त थे। सूत्र बताते हैं कि संदीप सुपारी किलर के साथ हथियार सप्लायर भी था। कुख्यात तस्कर राजू फौजी को शेट्टी ने हथियार सप्लाई किए थे। बदमाशों की तलाश में पुलिस ने नागौर के आसपास नाकेबंदी कर दी है। सभी गाड़ियों को चेक किया जा रहा है। घटना के बाद कोर्ट के बाहर भारी भीड़ जमा हो गई। संदीप के शव को अस्पताल में रखवाया गया है। संदीप सुपारी किलर था। भीलवाड़ा में दो कॉन्स्टेबल की हत्या करने वाला तस्कर राजू फौजी और गैंगस्टर संदीप विश्नोई खास दोस्त थे। पुलिसकर्मियों की हत्या के लिए संदीप ने ही राजू फौजी को हथियार दिए थे। संदीप ने पुलिस को पूछताछ में बताया था कि अपनी गैंग को ऑपरेट करने के लिए उसने उत्तर प्रदेश के एक सप्लायर से हथियार खरीदे थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack