पोषण माह के अंतर्गत गर्भवती और धात्री महिलाओं को सही पोषण के बारे में दी जानकारी।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
आकांक्षी जिला कार्यक्रम के अंतर्गत नीति आयोग की सहयोगी संस्था पीरामल फाउंडेशन ने जिले में चल रहे राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत गर्भवती और धात्री महिलाओं को सही पोषण पर करौली वार्ड 6 के आंगनबाड़ी केंद्र प्रथम पर गतिविधि करवाई। आंगनबाड़ी केंद्र पर प्रियंका शर्मा, महिला पर्यवेक्षक, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सहायिका, आशा और पीरामल फाउंडेशन के प्रतिनिधि गोपाल सिंह और सत्यम पांडेय मौजूद थे। इसके अंतर्गत महिलाओं को तिरंगा भोजन के बारे में बताया। साथ ही महिलाओं को स्तनपान करवाने के फायदे के बारे में भी बताया। पीरामल फाउंडेशन के प्रतिनिधि गोपाल सिंह ने गर्भवती और धात्री महिलाओं को उनके सही खान-पान से संबंधित जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मां को गर्भवती या धात्री होने के पश्चात सवइया भोजन करना चाहिए। जिससे मां और बच्चों को सही मात्रा में पोषण मिल सकें। गर्भवती और धात्री महिलाओं को अपने भोजन में तीन रंगों के भोज्य पदार्थ को शामिल करना चाहिए। ये तीन रंग है – पीला, सफेद और हरा। जिससे महिला और बच्चों को सही पोषण मिले। उन्होंने आगे बताया कि गांव में अंधविश्वास के तहत बच्चे को मां का पहला दूध नहीं पिलाया जाता है। जिससे बच्चे में रोग प्रतिरोध क्षमता का विकास नहीं हो पाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack