शिक्षा मंत्री ने शिक्षा अधिकारियोें की ली बैठक, शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति समाप्त करने के दिए निर्देश।

सिरोही ब्यूरो रिपोर्ट।
शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला ने सिरोही जिले में प्रवास के दौरान कृषि विभाग के आत्मा परियोजना कार्यालय के सभागार में शिक्षा अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। बैठक में शिक्षा मंत्री ने शिक्षा विभाग में संचालित योजनाओं पर चर्चा कर शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए कि समस्त विद्यालयों में अनांदाय शिक्षा का वातावरण हों, शिक्षक को अपने विषय का विशेषज्ञ हों ताकि विद्यार्थी ज्ञानवान, गुणवान व प्रतिभावान हो सके। उन्होंने कहा कि विद्यालयों में भयरहित शिक्षा प्रदान की जाए।विद्यार्थियों को छात्रवृति योजनान्तर्गत छात्रवृति समय पर मिले यह सुनिश्चित किया जाए। विशेष अभियान चलाकर पात्र को छात्रवृति प्रदान करने की कार्यवाही करें। साईकिल व स्कुटी वितरण की कमियों को पूर्ण किया जाए। विद्यालयों में नामांकन प्रक्रिया को बढावा दिया जाए, नामांकन प्रक्रिया के दौरान मीडिया एवं प्रशासन के लोगों को आमंत्रित किया जाए ताकि पादर्शिता बनी रहें। विद्यालयों में नामांकन की प्रगति की समीक्षा कर जानकारी लेकर नामांकन बढाने के निर्देश दिए गए। संबंधित पोर्टल पर सूचना भी अंकित की जाए। शिक्षा मंत्री ने शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिए कि वे विद्यालयों में नियमित रूप से भ्रमण कर स्वास्थ्य परीक्षण, लैब, पुस्तकालय, इत्यादी का सद्पयोग हों यह सुनिश्चित करें। शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति समाप्त करने के लिए कहा। मंत्री ने भामाशाह सम्मान अवार्ड की भी समीक्षा की। शिक्षा मंत्री ने हठधर्मिता वाले , नियमों की अनदेखी करने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में क्षेत्रीय विधायक संयम लोढा ने अनुकम्पा नियुक्तियों के लंबित प्रकरणों की जानकारी लेकर निस्तारण के लिए कहा। उन्होंने महात्मा गांधी अग्रेजी विद्यालयों में नामांकन लक्ष्य प्राप्त नहीं करने वाले विद्यालयों की जानकारी लेकर नामांकन बढाने के लिए प्रयास करने के निर्देश दिए। प्रतिनियुक्तियां खत्म करने के लिए कहा एवं छात्रवृति में कम प्रगति के कारणों का पता लगाकर लक्ष्य प्राप्त करें। बैठक में जिला कलक्टर डॉ भंवर लाल समेत शिक्षा विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack