विधायक वेदप्रकाश ने फिर दिखाए तेवर,बोले-अगर सच कहना बगावत है तो हां मैं बागी हूं।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
सचिन पायलट समर्थक कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी ने पूर्व में दिए गए अपने बयान पर अभी भी कायम है। वेद प्रकाश सोलंकी ने कहा कि अगर सच कहना बगावत है तो हां मैं बागी हूं। वेद प्रकाश सोलंकी ने अपने आवास पर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राजस्थान में सचिन पायलट के दम पर सरकार बनी थी, पार्टी को जो बहुमत मिला था वो सचिन पायलट की देन हैं जो जातियां पायलट के नाम पर वोट देती है उसके हिसाब से सचिन पायलट को महत्व मिलना चाहिए। वेद प्रकाश सोलंकी ने कहा कि राजस्थान में एससी-एसटी, अल्पसंख्यक वोटों के दम पर सरकार बनी थीम ऐसे में उन जातियों को सत्ता और संगठन मैं महत्व मिलना चाहिए उनका मान सम्मान होना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। सोलंकी ने कहा कि यह बात हम सार्वजनिक मंचों पर ही नहीं बल्कि पार्टी फोरम पर भी कह चुके हैं और दिल्ली में वरिष्ठ नेताओं के समक्ष भी इस बात को दोहरा चुके हैं कि राजस्थान की जनता सचिन पायलट को मुख्यमंत्री देखना चाहती है। अगर समय रहते पार्टी आलाकमान ने सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाया तो राजस्थान में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी को बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा। वेद प्रकाश सोलंकी ने कहा कि सचिन पायलट को लेकर जनता में करंट है, बदलाव सतत प्रक्रिया है और बदलाव होना चाहिए अगर बदलाव होगा तो इसका फायदा पार्टी को मिलेगा।


विधायक भी पर्दे के पीछे करते हैं पैरवी।

सचिन पायलट कैम्प के विधायक वेदप्रकाश सोलंकी ने कहा कि कुछ विधायक खुलकर सचिन पायलट के पक्ष में बोलते हैं और कुछ विधायक पर्दे के पीछे से सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने का समर्थन करते हैं, सबकी इच्छा यही है कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री होना चाहिए। क्योंकि 2023 के विधानसभा चुनाव में जीत का फार्मूला केवल सचिन पायलट ही हैं।


गहलोत को बनना चाहिए राष्ट्रीय अध्यक्ष।

वेदप्रकाश सोलंकी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना चाहिए उनको संगठन चलाने का लंबा अनुभव है, वो तीन बार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके हैं। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रह चुके हैं, ऐसे में यहां सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बन कर अशोक गहलोत को राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी संभालने चाहिए जिसका लाभ भी पार्टी को होगा।

वेद प्रकाश सोलंकी के बयान पर डोटासरा किया पलटवार।

इससे पहले सचिन पायलट कैम्प के विधायक वेद प्रकाश सोलंकी की ओर से दिए गए बयान पर पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने पलटवार करते हुए कहा था कि कोई कितना भी बड़ा जनप्रतिनिधि या लाड साहब हो,पार्टी से ऊपर कोई नहीं है। पार्टी को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों का समय आने पर इलाज किया जाएगा। गौरतलब है कि वेद प्रकाश सोलंकी ने हाल ही में एक जनसभा में कहा था कि उनकी निष्ठा कांग्रेस पार्टी में नहीं है उनकी निष्ठा केवल सचिन पायलट में है। वेद प्रकाश सोलंकी के इस बयान के बाद सियासी गलियारों में भी चर्चाओं का दौर चल पड़ा था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack