सीएम गहलोत ने एक पद एक व्यक्ति सिद्धांत पर जताई सहमति।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
सीएम अशोक गहलोत का राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव लड़ना लगभग तय हो गया है। मुख्यमंत्री संभवत: 28 सितंबर को अपना नामांकन दाखिल करेंगे। इससे पहले राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने कोच्चि पहुंच कर राहुल गांधी से मुलाकात की। इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए गहलोत ने कहा कि हम सभी की इच्छा है कि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बनें। उन्होंने यह भी कहा कि मैं कांग्रेस का सिपाही हूं, पार्टी जो हुकुम देगी, मैं वो काम करूं। यही मेरा स्टैंड है। इस एक सवाल के जवाब में सीएम गहलोत ने कहा कि दो पोस्ट पर कोई समस्या नहीं है, लेकिन जो कांग्रेस अध्यक्ष बनता है, वो दो पोस्ट पर काम नहीं कर सकता क्योंकि उसे पूरा देश देखना होता है। सभी राज्यों में काम करना होता है। इसलिए जस्टिफाई करने के लिए एक पोस्ट पर रहना ज्यादा उचित है। सीएम गहलोत ने कहा कि हम राहुल गांधी से रिक्वेस्ट करेंगे कि जब तमाम प्रदेश कांग्रेस कमेटियां प्रस्ताव पास कर रही हैं तो आपको कांग्रेस प्रेसिडेंट बनना चाहिए। सीएम गहलोत ने कहा कि हम सभी चाहते हैं कि राहुल गांधी अध्यक्ष बनें। क्योंकि आज देश में जो चिंताजनक महौल है, संविधान की धज्जियां उड़ रही है। ऐसे में मजबूत विपक्ष का होना जरूरी है। हम रिक्वेस्ट करेंगे कि वे फार्म भरें। सीएम गहलोत ने कहा कि मेरा बस चले तो मैं किसी पोस्ट पर नहीं रहूं। मैं लगातार 40 साल तक केंद्रीय मंत्री, एआईसीसी मेंबर, तीन बार सीएम रहा हूं। मुझे पार्टी ने बहुत कुछ दिया है। मैं तो बिना पोस्ट के राहुल के साथ यात्रा पर लग जाऊं। सीएम गहलोत ने कहा कि मैं कांग्रेस का सिपाही हूं। मेरा फर्ज बनता है जो पार्टी हुकुम देगी, मैं वही काम करूं यही मेरा स्टैंड है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack