DM ने की लर्न पंजाबी एण्ड्रॉयड ऐप की लॉन्चिंग।

श्रीगंगानगर-राकेश मितवा।
श्रीगंगानगर जिला कलक्टर रुक्मणि रियार सिहाग की अध्यक्षता में अर्न्तराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर लर्न पंजाबी एण्ड्रॉयड ऐप की लॉन्चिंग और पंजाबी कायदा का विमोचन किया गया। लॉन्चिंग के बाद जिला कलक्टर ने बताया कि इस बहुभाषी एप द्वारा सहज रूप से अन्य भाषी पंजाबी भाषा एवं गुरूमुखी लिपि का अध्ययन कर सकते है।जिला शिक्षा अधिकारी अरविन्द्र सिंह ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में निरन्तर वृद्वि हेतु मिशन ज्ञान में पंजाबी भाषा के साहित्य की कमी थी जो इस एप के माध्यम से पूरी होगी। इकबाल सिंह गोदारा ने बताया कि न केवल श्रीगंगानगर जिले के अपितु राजस्थान के अन्य पंजाबी भाषी जिले यथा हनुमानगढ़, कोटा, बूंदी के साथ-साथ अर्न्तराष्ट्रीय स्तर के विद्यार्थी यथा कनाडा, यूके, यूएसए, न्युजीलैण्ड, ऑस्टेलिया इत्यादि इससे पंजाबी का सहज ही अध्ययन कर सकेंगे। गुरदीप सिंह खोसा ने कहा कि यह एप पंजाबी के वरिष्ठ अध्यापकों एवं व्याख्याताओें के लिए अत्यन्त लाभकारी सिद्ध होगी।  हरजिन्द्र सिंह ने कहा कि इस एप से छात्रों के मध्य बहुभाषी ज्ञान बढेगा।जिला कलक्टर ने बताया कि लर्न पंजाबी एण्ड्रॉयड एप  परमजीत सिंह, अतिरिक्त जिला सूचना-विज्ञान अधिकारी, राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र एवं उनकी टीम द्वारा तैयार किया गया है। इस एप के माध्यम से चार भाषाओं हिन्दी, अंग्रेजी, गुजराती एवं उर्दू के द्वारा पंजाबी भाषा का प्राथमिक स्तर से उच्च माध्यमिक स्तर तक अध्ययन किया जा सकता है। परमजीत सिंह ने बताया कि एप में पंजाबी वर्ण माला को डिजिटल तरीके से सीखा जा सकता है। प्रत्येक पंजाबी अक्षर की बनावट, उच्चारण एंव अभ्यास किया जा सकता है। पंजाबी व्याकरण के समस्त पाठ इस एप के माध्यम से उपलब्ध करवाये गये है। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की कक्षा 6 से कक्षा 12 तक की समस्त पुस्तकें डिजिटलाइज कर शिक्षा विभाग के निवेदन पर इस एप पर अपलोड की गयी है। एप में पंजाबी कायदा का डिजिटलाइज वर्जन लॉच हुआ।परमजीत सिंह द्वारा लिखित पंजाबी कायदा का विमोचन जिला कलक्टर,  पन्नालाल कडेला मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी एवं  गिरिजेश कान्त शर्मा जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक/माध्यमिक, इकबाल सिंह गोदारा प्राचार्य  गुरूनानक खालसा पीजी महाविद्यालय, अरविन्द्र सिंह एडीपीसी समग्र शिक्षा, परनीत जग्गी सह आचार्य डॉ भीमराव अम्बेडकर राजकीय महाविद्यालय एवं  हरजिन्द्र सिंह सहायक आचार्य पंजाबी द्वारा किया गया।परमजीत सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बताया कि जल्द ही इस एप की आईओएस वर्जन लांच होगी तथा आर्टिफिशियल इन्टेलीजेन्स का उपयोग करते हुए प्ले वे के माध्यम से भाषा ज्ञान बढाया जायेगा। द्वितीय चरण में स्नातक एवं परास्नातक की पुस्तकें, साहित्य तथा चलचित्र के माध्यम से पंजाबी भाषा का ज्ञान जिले के प्रत्येक गांव एवं ढाणी तक पहुंचाया जा सकेगा। परनीत कौर जग्गी ने संचालन करते हुए अतिथियों का परिचय करवाया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack