नाके पर तैनात कांस्टेबल ने चैकिंग के दौरान IPS से ही वसूले 500 रुपए, एक कांस्टेबल सस्पेंड, तीन पुलिसकर्मी लाइन हाजिर।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जयपुर पुलिस ने रात के समय ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों की अनियमितताओं को देखने के लिए डिकॉय ऑपरेशन चलाया। डिकॉय ऑपरेशन के तहत देर रात डीसीपी नॉर्थ परिस देशमुख सादा वस्त्रों में शहर के विभिन्न इलाकों में गश्त पर निकले। सीट बेल्ट नहीं लगाने पर ट्रांसपोर्ट नगर थाना इलाके में रोटरी सर्किल पर पुलिस कांस्टेबल ने डीसीपी की कार को रोक लिया। कांस्टेबल ने चालान का डर दिखाकर आईपीएस अधिकारी से 500 रुपये वसूल लिए। जिसके बाद मौके पर ही कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया। वही अन्य तीन पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया गया है। एडिशनल पुलिस कमिश्नर लॉ एंड ऑर्डर कैलाश चंद्र विश्नोई ने बताया कि जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की ओर से ऑपरेशन चलाया गया है। डीसीपी नॉर्थ परिस देशमुख निजी कार में बैठकर सादा कपड़े पहन कर शहर में निकले थे। डीसीपी ने शहर के विभिन्न इलाकों में नाकेबंदी पॉइंट्स की जांच की। रात करीब 2 बजे ट्रांसपोर्ट नगर इलाके में रोटरी सर्किल पर चार पुलिसकर्मी ड्यूटी पर तैनात थे। जिन्होंने सीट बेल्ट नहीं लगाने पर डीसीपी की कार को रोक लिया। रोटरी सर्किल पर पुलिसकर्मी राजेंद्र प्रसाद, राजेंद्र सिंह, अशोक और राजीव नाकाबंदी कर रहे थे। कांस्टेबल राजेंद्र प्रसाद ने डीसीपी की कार को रोककर चेक किया, तो डीसीपी ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी। कांस्टेबल राजेंद्र ने कहा कि सीट बेल्ट नहीं लगा रखा है, आपका चालान होगा। गाड़ी की आरसी दिखाओ। इस दौरान डीसीपी ने आरसी होने से भी मना कर दिया। कांस्टेबल ने कहा कि अब जुर्माना लगेगा। कांस्टेबल ने ढाई हजार रुपए का चालान काटने की धमकी दी। डीसीपी ने सेटलमेंट करने के लिए कहा तो कांस्टेबल राजेंद्र ने 500 रुपये की डिमांड कर दी। डीसीपी ने 500 रुपये निकाल कर दे दिए। कांस्टेबल की ओर से 500 रुपये की वसूली करने के बाद डीसीपी नॉर्थ परिस देशमुख ने तुरंत कंट्रोल रूम और एडिशनल पुलिस कमिश्नर लॉ एंड ऑर्डर कैलाश चंद्र विश्नोई को सूचना दी। जिसके बाद तुरंत प्रभाव से रुपए लेने वाले कांस्टेबल राजेंद्र प्रसाद को सस्पेंड कर दिया गया। अन्य तीन पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया गया है। नाकाबंदी में मौजूद अन्य पुलिसकर्मियों की भूमिका को लेकर जांच की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack