धनतेरस पर राजस्थान के बाजारों पर बरसी लक्ष्मी,10 हजार करोड़ का हुआ कारोबार।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
प्रदेश में धनतेरस पर इस बार रिकॉर्ड टू व्हीलर और फोर व्हीलर की बिक्री हुई है। राजस्थान ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन की मानें तो इस बार टू-व्हीलर और फोर-व्हीलर सेगमेंट में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की भी मांग बढ़ी है। इसके अलावा हाइब्रिड कार भी लोगों की पहली पसंद रही। दरअसल कोरोना के 2 साल बाद इस बार धनतेरस पर बाजारों में रौनक देखने को मिली। सोने-चांदी से लेकर इलेक्ट्रॉनिक, गारमेंट्स, बर्तन, रियल एस्टेट और ऑटोमोबाइल सेक्टर में जमकर खरीदारी हुई। इस बार 10 से 15 हजार करोड़ के व्यापार होने का आंकलन किया जा रहा है।
वहीं ऑटोमोबाइल का बाजार भी इस बार बूम पर रहा। जिसमें करीब 2 हजार करोड़ के वाहनों की बिक्री हुई। अकेले राजधानी जयपुर में 800 करोड़ के करीब 20 हजार दोपहिया और 5 हजार चौपहिया वाहन बिके। धनतेरस के लिए लोगों ने 2 महीने पहले ही वाहनों की बुकिंग कराना शुरू कर दिया था। वहीं कई हाइब्रिड फोर व्हीलर की बुकिंग 8 महीने पहले कराई गई तब जाकर धनतेरस पर उपभोक्ताओं को उनका वाहन उपलब्ध कराया गया।
पूरे प्रदेश में लगभग 8 से 10 हजार करोड़ का कारोबार।
3 हजार 500 करोड़ के प्रॉपर्टी।

2000 करोड़ के वाहन।

500 करोड़ के इलेक्ट्रॉनिक आइटम।

1 हजार करोड़ के सोने-चांदी के सिक्के और गहने।

300 करोड़ के बर्तन।

300 करोड़ के कपड़े।

200 करोड़ के फर्नीचर।

100 करोड़ की सजावटी लाइट्स।

20 करोड़ के पटाखे।

40 करोड़ के फुटवियर।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack