अल्पसंख्यक आयोग अध्यक्ष ने की 15 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा।

श्रीगंगानगर-राकेश मितवा।
श्रीगंगानगर में राजस्थान राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष, विधायक रफीक खान ने जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में प्रधानमंत्री के 15 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने 15 सूत्रिय कार्यक्रम से संबंधित विभागों के अधिकारियों से अब तक की प्रगति रिपोर्ट लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये। बैठक में आयोग अध्यक्ष ने एकीकृत बाल सेवाओं की समुचित उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि आंगनबाड़ी केन्द्रों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं का प्रतिशत अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्रों में बढ़ाया जाये। विद्यालय शिक्षा की उपलब्धता में सुधार के निर्देश देते हुए उन्होंने प्रारम्भिक व माध्यमिक शिक्षा में सुधार, उर्दू शिक्षण के लिये शिक्षकों के पद बढ़ाने के साथ-साथ पंजाबी बाहुल्य क्षेत्रा होने के कारण गंगानगर जिले में पंजाबी भाषा के शिक्षकों के भी पद अधिक करने की आवश्यकता जताई। मदरसा आधुनिकीकरण के संबंध में उन्होंने कहा कि योजना से लाभान्वित होने के लिये मदरसा भवनों का पट्टा होना आवश्यक है। बैठक में उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय के विद्यार्थियों के लिये छात्रावृत्ति के संबंध में शिक्षा और अल्पसंख्यक विभाग के अधिकारियों ने प्री-मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक छात्रावृत्ति व मेरिट कम मीन्स छात्रावृत्ति, बेगम हजरत महल छात्रावृत्ति और मुख्यमंत्राी अनुप्रति कोचिंग योजना के माध्यम से अधिकाधिक विद्यार्थियों को लाभान्वित करने के निर्देश दिये।गरीबों के स्वरोजगार और मजदूरी रोजगार योजना के संबंध में नगरपरिषद आयुक्त द्वारा अवगत करवाया गया कि विभाग द्वारा इंदिरा शहरी क्रेडिट कार्ड और दीनदयाल अन्तोदय योजना, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत भी अल्पसंख्यक समुदाय के पात्रा लोगों को लाभान्वित किया जा रहा है।तकनीकी शिक्षा के माध्यम से कौशल उन्नयन और आर्थिक क्रियाकलापों के लिये अभिवृद्धित ऋण सहायता की जानकारी लेने के साथ-साथ आयोग अध्यक्ष ने जिला उद्योग केन्द्र, उद्यान विभाग, लीड बैंक, पुलिस, चिकित्सा विभाग, जिला परिषद, कृषि विभाग, पशुपालन विभाग से भी जानकारी प्राप्त की।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack