सिलेंडर फटने से 4 लोग जले जिंदा, 16 झुलसे, सीएम ने जताया दुख।

जोधपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर में मगरा पूंजला एरिया के कीर्ति नगर में गैस सिलेंडर फटने से 4 लोगों की मृत्यु पर संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि इस कठिन घड़ी में उनकी गहरी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ हैं। उन्होंने ईश्वर से परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करने एवं दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की। गहलोत ने स्थानीय प्रशासन से पूरी घटना की जानकारी ली एवं घायलों के समुचित उपचार के निर्देश दिए। उन्होंने हादसे में घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।
यह है पूरा मामला।
दरअसल जोधपुर शहर के माता का थान क्षेत्र में मंगरा पूंजला इलाके के एक रहवासी कॉलोनी में गैस के तीन-चार सिलेंडर फटने से आग लग गई। जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने बताया कि हादसे में 4 लोग जिंदा जल गए, जबकि 16 लोग झुलस गए हैं। मृतकों के शवों को फायर ब्रिगेड कर्मियों ने निकाला है। हादसे में 16 लोग बुरी तरह से झुलस गए। इनमे कई बच्चे भी शामिल है। जिन्हे एमजीएच की बर्न यूनिट में भर्ती करवाया गया है। हादसे में कुल 9 बच्चे चपेट में आए, जिनमें से तीन की मौत हो गई। हादसे में झुलसे लोगों मे से कई गैस रिफिल का काम करने वाले भी शामिल है।
घर में रखे थे बड़ी संख्या में सिलेंडर।
जानकारी के अनुसार मंगरा पूजला क्षेत्र के कीर्ति नगर निवासी भोमाराम जो कि एक गैस एजेंसी के सिलेंडर परिवहन का काम करता है। उसके घर पर बड़ी संख्या में गैस सिलेंडर मौजूद थे। उस समय एक गाड़ी भी घर के बाहर खड़ी थी। घर पर गैस का अवैध काम होता है। गोदाम जैसे हालत थे। हादसे के वक्त भोमाराम घर के अंदर नहीं था। एक सिलेंडर लीक होने का अहसास होने पर उसके साले सुरेश ने तीली जलाकर जांच करनी चाही, जिसके चलते सिलेंडर ने आग पकड़ ली और एक के बाद एक अन्य सिलेंडरों में आग लगती गई। इसके बाद तीन से चार विस्फोट हुए। इस हादसे में भोमाराम का साला सुरेश पुत्र नाथूराम और उसके पुत्र विक्की पुत्री निक्कू और कोमल की मौत हो गई। इनके शव ही घर से निकले जो बुरी तरह से जल गए थे। जबकि उसकी पत्नी झुलस हो गई। डीसीपी ईस्ट डॉ अमृता दुहान ने प्रथम दृष्टिया घर में अवैध रूप से सिलेंडर रिफिल करने की पुष्टि की है।
स्कूल से आते बच्चे आए आग की चपेट में।
हादसा जब हुआ उसी समय निरमा पत्नी भगीरथ अपने बेटे नक्ष और एक अन्य छात्र नितेश को लेकर घर की तरफ जा रही थी। अचानाक घर से निकली लपटों ने तीनो को अपनी चपेट में ले लिया। तीनों बुरी तरह झुलस गए निरमा की स्थिति गंभीर है, वह 50 फ़ीसदी से ज्यादा जल चुकी है। लोगों ने बताया की आग पूरी गली में फेल गई। जिससे लोग आग की चपेट में आते गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack