राजस्थान में शुद्ध के लिए युद्ध-मुखबिर योजना हुई लागू, मिलेगी 51 हजार रूपये की इनाम राशि।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राज्य सरकार ने प्रदेशवासियों को मिलावट से बचाकर गुणवत्तापूर्ण खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ‘‘शुद्ध के लिए युद्ध‘‘ अभियान-मुखबिर योजना-2022 लागू की है। योजना के तहत मिलावटी खाद्य पदार्थ बनाने या विक्रय करने वाले के संबंध में सूचना देने वाले व्यक्ति को 51 हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।मुखबिर की पहचान पूरी तरह गोपनीय रखी जाएगी। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के शासन सचिव डॉ. पृथ्वी ने बताया कि इस योजना का उद्देश्य प्रदेशवासियों को शुद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण खाद्य पदार्थों की उपलब्धता सुनिश्चित करना, मिलावट रोकने के आमजन को प्रेरित एवं प्रोत्साहित करना तथा मिलावट करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई करना है। 
यहां दी जा सकेगी मिलावट की सूचना।
योजना के तहत कोई भी व्यक्ति अनाधिकृत स्थान पर मिलावटी खाद्य पदार्थ के निर्माण या विक्रय की सूचना टोल फ्री नंबर 181 पर तथा खाद्य सुरक्षा एवं औषधि नियंत्रण आयुक्त, अतिरिक्त आयुक्त, संयुक्त आयुक्त, जिला कलेक्टर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, उपखण्ड अधिकारी, ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी या खाद्य सुरक्षा अधिकारी को पत्र, ई-मेल, सीडी, डीवीडी, पेन ड्राइव, एसएमएस या व्हाट्स एप के माध्यम से दे सकता है। मुखबिर द्वारा दी गई सूचना का ये अधिकारी परीक्षण करेंगे। प्रथम दृष्टया सूचना सही पाए जाने पर मुखबिर को निर्धारित फॉर्म में सूचना देने के लिए कहा जाएगा। उसकी प्राप्ति रसीद एवं यूनिक कोर्ड मुखबिर को दिया जाएगा। मुखबिर की पहचान गोपनीय रखने के उद्देश्य से उसे इसी यूनिक कोर्ड से पहचाना जाएगा। 

लैब रिपोर्ट के आधार पर मिलेगी प्रोत्साहन राशि।

सूचना के आधार पर लिए गए सैम्पल के खाद्य लैब में अनसेफ पाए जाने पर मुखबिर को 25 हजार रूपए की राशि दी जाएगी तथा कोर्ट में चालान पेश होने पर शेष 26 हजार रूपए की राशि प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार सैम्पल खाद्य लेब में अमानक पाया जाने पर मुखबिर को प्रोत्साहन राशि के रूप में 5 हजार रूपए तथा एडीएम कोर्ट में चालान पेश होने पर 5 हजार रूपए की राशि देय होगी। यह राशि देने के लिए खाद्य सुरक्षा आयुक्त एवं जिला कलेक्टर को प्राधिकृत किया गया है। उल्लेखनीय है कि इस योजना से मिलावट रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाया जा रहा शुद्ध के लिए युद्ध अभियान सफलतापूवर्क संचालित हो सकेगा। साथ ही मिलावट रोकने के इस महत्वपूर्ण अभियान में जनभागीदारी सुनिश्चित की जा सकेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack