राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर 72 लाख से अधिक परिवाद हुए दर्ज, 98% से अधिक का हुआ निस्तारण।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राज्य सरकार संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह सुशासन के अपने मूल मंत्र को पूरी अपनी प्रतिबद्धता से साकार रूप दे रही है। आमजन की शिकायतों का त्वरित निस्तारण कर उन्हें राहत पहुँचाई जा रही जा रही है। राजस्थान सम्पर्क पोर्टल इस दिशा में एक बड़ा कदम है। राजस्थान संपर्क एक अभिनव ई-गवर्नेंस परियोजना है, जिससे आम नागरिकों की समस्याओं का तेजी से समाधान सुनिश्चित किया जा रहा है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सम्पर्क पोर्टल पर 72 लाख से अधिक परिवाद दर्ज करवाए गए, जिनमें से 98 प्रतिशत से अधिक का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित किया गया है। राज्य सरकार का उदेदश्य है कि सम्पर्क पोर्टल के माध्यम से आम नागरिकों को विभिन्न विभागों तक अपनी शिकायतें और अपनी समस्याओं को पहुँचाने का एक मंच प्रदान किया जाए, ताकि प्रशासनिक कार्यों में पारदर्शिता सुनिश्चित की जा सके और सर्विस डिलीवरी में सुधार लाया जा सके। इससे शासन प्रणाली आम नागरिकों के लिए और भी जवाबदेही बन रही है। सम्पर्क पोर्टल के माध्यम से नागरिकों को कार्यालय में उपस्थित हुए बिना ऑनलाइन ही अपनी समस्याओं को दर्ज कराने की सुविधा प्रदान की जा रही है। नागरिकों की शिकायतों का निस्तारण भी त्वरित प्रभाव से किया जा रहा है। उल्लेखनीय है वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सम्पर्क पोर्टल पर अब तक लगभग 72 लाख 73 हजार से अधिक शिकायतें पंजीकृत की जा चुकी हैं। इनमें से 71 लाख 34 हजार से अधिक शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण  किया जा चुका है, जो कि राज्य सरकार के संवेदनशील और जवाबदेही सुशासन को दर्शाता है। सम्पर्क पोर्टल पर अब तक दर्ज शिकायतों में से करीब 98 प्रतिशत से भी अधिक शिकायतों का त्वरित व गुणवत्तापूर्ण समाधान कर आमजन को बड़ी राहत प्रदान की गई है। सम्पर्क पोर्टल पर वर्तमान में 1.91 लाख प्रतिशत शिकायतें लंबित हैं, जिनमें से करीब एक लाख 11 हजार शिकायतें ऐसी हैं, जिनको दर्ज हुए 30 दिन से भी कम का समय हुआ है। इसी प्रकार 31 से 45 दिन की अवधि की लंबित शिकायतों की संख्या लगभग 12 हजार  है। 46 से 60 दिन की अवधि की लंबित शिकायतें करीब 5 हजार एवं 61 से अधिक दिन की लंबित शिकायतों की संख्या मात्र 10 हजार है। राज्य सरकार द्वारा समस्याओं के निस्तारण की प्रणाली को और भी मजबूत बनाया जा रहा है, ताकि आम नागरिकों को अच्छी सुविधाएँ मुहैया कराई जा सकें। सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज शिकायतों के समाधान की प्रभावी मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जा रही है। अंतिम निस्तारण तक शिकायतों की निगरानी की जाती है और निस्तारित की गई शिकायतों का भविष्य के लिए अभिलेख भी रखा जाता है। 
 
ऐसे दर्ज करवा सकते हैं सम्पर्क पोर्टल पर परिवाद।

आम नागरिक बड़ी ही सरलता के साथ सम्पर्क पोर्टल पर अपनी शिकायतों का पंजीकरण कर सकते हैं। सम्पर्क पोर्टल पर 181 हेल्पलाइन पर कॉल कर और एसएसओ आईडी के माध्यम से लॉग इन कर शिकायतों का पंजीकरण किया जा सकता है। सम्पर्क पोर्टल पर लेवल वन में ब्लॉक स्तर पर, लेवल टू में जिला स्तर पर और लेवल थ्री में विभाग स्तर पर शिकायतों का निस्तारण किया जाता है। सम्पर्क पोर्टल के माध्यम से आम नागरिक भ्रष्टाचार तथा अनियमितता से जुड़े प्रकरण, जन-आधार योजना से संबंधित मामले, जन्म, मृत्यु एवं विवाह पंजीकरण, राशन, पी.पी.ओ. एवं नरेगा से जुड़े समस्त प्रकरण सहित लोकहित से जुड़ी शिकायतों का पंजीकरण कर सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack