एसडीएम चिकित्सक के बीच सड़कछाप बहस, एसडीएम बिफरे तो डॉक्टर ने वहीं फोड़ने की दी धमकी।

नागौर ब्यूरो रिपोर्ट।
जेएलएन अस्पताल की आपातकालीन इकाई में जायल एसडीएम बिना पर्ची के ही चिकित्सक को दिखाने पहुंच गए। चिकित्सक ने पर्ची मांगी तो बात बिगड़ गई। एसडीएम व चिकित्सक के बीच तू-तू, मैं-मैं हो गई। पीएमओ महेश पंवार ने बताया कि घटनाक्रम जायल एसडीएम सुनील सियाग एवं डाॅ. विजय चौधरी के बीच का है। घटनानुसार एसडीएम बगैर पर्ची के दिखाने पहुंच गए। उन्होंने डॉक्टर से ही पर्ची लाने का बोला। चिकित्सक ने कहा- मैं क्यों लाऊं? जिसकाे दिखाना है, वही लाए। इस पर बात बिगड़ गई। वायरल वीडियो अनुसार विवाद के बीच डॉक्टर ने कहा, एसडीएम है तो थारी जिग्यां है, म्हारै माथे कोनी। एसडीएम ने डॉक्टर से कहा- बकवास मत कर। डॉ. बोले- बकवास तूं मत कर। ढंग हूं बोल। तू-तू कैसे बोल रहा है। पर्ची तो तेरे को लानी पड़ेगी। तेरे से हो जो कर ले। अठई फोडूंला, कोई छुटावा वालो नहीं आवैलो।
इमरजेंसी का मामला, एसडीएम बोले- कुछ मिस अंडरस्टेंडिंग की वजह से बहस हो गई थी।
इधर, इस मामले में जायल एसडीएम का कहना है कि यह व्यक्तिगत मामला था। जो उसी समय निपट गया था। और यह अब चर्चा करने लायक भी प्रकरण नहीं है। उन्होंने बताया कि वे बीमार थे। इसके चलते वहां दिखाने के लिए गए थे। वहां कुछ मिस अंडरस्टेंडिंग की वजह से बहस हो गई। अब मैं इस मामले में ज्यादा कमेंट नहीं कर सकता हूं। उधर, यह वीडियो सोशल मीडिया पर जबरदस्त तरीके से वायरल हो रहा है। हर कोई अपने कमेंट के साथ इसे पास कर रहा है।
बहस के बाद बगैर उपचार लिए एसडीएम निकल गए।
जेएलएन की इमरजेंसी में जब विवाद बढ़ा तो एसडीएम सुनील चिकित्सक को बगैर दिखाए और उपचार लिए वहां से निकल गए। वायरल वीडियो में जब डॉक्टर ने कहा कि यहीं फोड़ूंगा, इधर आ तो फिर एसडीएम गाड़ी के पास जाते हुए कहते हैं, मैँं फिर आऊंगा। उल्लेखनीय है कि मामूली बात पर एसडीएम और डॉक्टर दोनों तैश में आ गए और मामला इतना बिगड़ा कि किसी ने इसका वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack