मुख्य सचिव की अध्यक्षता में सिंगल यूज प्लास्टिक बैन से सम्बंधित चौथी समीक्षा बैठक आयोजित।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्य सचिव उषा शर्मा ने निर्देश दिये कि जिन जिलों में सिंगल यूज प्लास्टिक बैन पर प्रभावी कार्यवाही नहीं हो रही है उनके कलेक्टर को इस संबंध में प्रभावी कदम उठाने के लिए पाबंद किया जाए। शर्मा शासन सचिवालय स्थित अपने कक्ष में सिंगल यूज प्लास्टिक के बैन से सम्बंधित चौथी बैठक की अध्यक्षता कर रहीं थीं।मुख्य सचिव ने कहा कि विगत जुलाई माह में सिंगल यूज प्लास्टिक बैन पर प्रभावी कार्य किये गये थे। उन्होंने आगे भी इसी तरह से प्रभावी कदम उठाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिये। 
शर्मा ने कहा कि जिलों में व्यापारी संगठनों के साथ वर्कशॉप का आयोजन कर उन्हें सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग से होने वाले दुश्परिणामों की जानकारी के साथ इसके विकल्पों के सम्बंध में भी जानकारी दी जानी चाहिए। बैठक में वन एवं पर्यावरण विभाग के प्रमुख शासन सचिव शिखर अग्रवाल ने बताया कि जुलाई से अभी तक 19 हजार 550 निरीक्षणों के दौरान 25 लाख 42 हजार 570 रुपये के चालान किये गये। जिसके अन्तर्गत 59 हजार 140 किलो सिंगल यूज प्लास्टिक जब्त की गई है। इसके साथ ही राज्यभर में 19 मैन्यूफेक्चर यूनिटस के विरूद्ध सिंगल यूज प्लास्टिक को लेकर कारवाई की गई। उन्होंने बताया कि सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को रोकने के जन जागरण अभियान के तहत युवा संगठनों, एन.सी.सी., एन.एस.एस और स्कूल महाविद्यालयों के छात्रों द्वारा भी प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इसके साथ ही पर्यटक स्थलों एवं धार्मिक स्थलों और साप्ताहिक बाजारों में सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ विशेष जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। बैठक में राजस्थान राज्य प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव प्रवीण उपस्थित रहे तथा अन्य विभाग के अधिकारी वी.सी. के माध्यम से जुड़े।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack