रेगिस्तान की धरा को औद्योगिक धरा में परिवर्तन करना हमारा लक्ष्य-अडानी

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
देश में निवेश की संभावनाओं को तलाश के लिए राजस्थान सरकार की ओर से इन्वेस्ट राजस्थान समिट का आयोजन किया जा रहा है। सरकार की ओर से दावा किया है कि इस इन्वेस्ट समिट में प्रदेश में 10 लाख करोड़ से अधिक का निवेश होगा।समिट में अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी ने कहा कि हमने राजस्थान के कई औद्योगिक क्षेत्रों में 60,000 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया है। गौतम अडानी ने कहा कि हम राजस्थान में 7 हजार करोड़ का इंवेस्टमेंट कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यहां हमारा 10 हजार मेगावॉट का सोलर पार्क शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि जयपुर एयरपोर्ट पर वर्ल्ड क्लास सुविधाओं को विकसित किया जाएगा। ग्रीन हाइड्रोजन जनरेट करने की दिशा में अडानी समूह राजस्थान के थार डेजर्ट में काम करेगा। गौतम अडानी ने अपने संबोधन में कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत के डिसीजन की वजह से ही ये सब सम्भव हो पाया है। सरकार की शक्ति उड़ान योजना, कोचिंग अनुकृति योजना लैंड मार्क है। इसके अलावा राजस्थान वीर सपूतों की धरा है, मैं राजस्थान सरकार की नीतियों से अभिभूत हूं। सरकार ने कम से कम समय में अधिकाधिक सुविधा उपलब्ध करवाई है और निवेश को लेकर सरकार की ओर से यह जो कदम उठाया गया है इससे प्रदेश में निवेश काफी आसान हो जाएगा।अडानी ने बताया कि अडानी ग्रुप ने 1320 मेगावाट का पावर प्लांट स्थापित किए हैं। सीएम गहलोत के आर्थिक निवेश के विजन से सौर ऊर्जा में राजस्थान को सिरमौर बनाया है। इसके साथ ही अडानी ग्रुप द्वारा ऊर्जा क्षेत्र में 20000 करोड़ का निवेश, राजस्थान में विभिन्न क्षेत्र में अडानी ग्रुप की ओर से 60,000 करोड़ के निवेश की प्लानिंग, सीमेंट क्षेत्र, जयपुर एयरपोर्ट को अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने, राजस्थान में 14000 लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाना है। सीएम गहलोत के नेतृत्व में रेगिस्तान की धरा को औद्योगिक धरा में परिवर्तन हमारा लक्ष्य है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack