बूंदी महोत्सव में कलक्टर ने की साफा और पारंपरिक परिधान पहनकर शिरकत करने की अपील।

बूंदी ब्यूरो रिपोर्ट।
बूंदी महोत्सव के तहत 11 नवंबर को 'साफा एवं पारंपरिक परिधान दिवस का आयोजन किया जाएगा। जिला कलक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी ने बताया कि साफा एव पारम्परिक परिधान राजस्थान की संस्कृतिक की अनमोल धरोहर है। यह न केवल राजस्थान के गौरव का प्रतीक है, अपितु अनेकता में एकता एवं भारत की पारम्परिक मिसाल को भी प्रदर्शित करता है।  उन्होंन बताया कि बूंदी महोत्सव के तहत 11 नवम्बर को साफा एवं पारम्परिक परिधान दिवस में सभी राजकीय अधिकारी, कर्मचारीगण, सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान तथा आमजन यथा संभव पूरे कार्य दिवस साफा एवं पारम्परिक परिधान पहनकर कार्य करने का प्रयास करेंगे। इससे पूरे जिले की सांस्कृतिक विविधता का व्यापक प्रचार प्रसार होगा। जिला कलक्टर ने अपील की है कि 11 नवम्बर को सभी बूंदीवासी अपने अपने कार्यस्थलों एवं बूंदी महोत्सव के कार्यक्रमों में साफा एवं पारम्परिक परिधान पहनकर शामिल होवें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack