गुमशुदा युवक मामले में सांसद किरोड़ी लाल ने पुलिस को कार्रवाई नहीं होने पर रेलवे ट्रैक जाम करने की दी चेतावनी।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
करौली जिले के टोडाभीम विधानसभा क्षेत्र के उपखण्ड नादौती के गांव धोलेटा से लगभग 25 दिन पूर्व गुमशुदा हुये युवक के दस्तयाब की मांग को लेकर राज्य सभा सांसद डॉक्टर किरोड़ी लाल मीणा के नेतृत्व में शुक्रवार को टोडाभीम पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय के बाहर महिला पुरुष ग्रामीणों द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेश मीणा के द्वारा 10 दिन के भीतर कार्रवाई करने के आश्वासन पर ग्रामीणों के द्वारा धरना समाप्त कर दिया गया। 
धरना स्थल पर पहुंचे राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने ग्रामीणों से वार्ता की और मौके पर मौजूद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरेश मीना से गुमशुदा हुए युवक को शीघ्र दस्तियाब करने की पुलिस प्रशासन के सामने मांग रखी । इस पर पुलिस प्रशासन द्वारा 1 माह का समय मांगने पर ग्रामीणों ने नाराजगी जताई और गुमशुदा को शीघ्र दस्तियाब करने की मांग पर अड़े रहे । उसके बाद राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ लाल मीणा द्वारा पुलिस प्रशासन के उच्च अधिकारियों से बात करने के बाद 10 दिन का समय दिया गया है । वही राज्यसभा सांसद डॉक्टर मीणा ने कहा कि नादौती से गुमशुदा हुए युवक के मामले को लेकर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उक्त मामले को लेकर वार्ता के बाद 10 दिन का समय दिया गया है । यदि पुलिस द्वारा 10 दिन के अंदर युवक को दस्तियाब नहीं किया जाता है तो उनके नेतृत्व में नादौती में उग्र आंदोलन किया जाएगा और दिल्ली मुंबई रेलवे ट्रैक को जाम करने की भी चेतावनी दी है। सांसद किरोडी मीना ने कहा की विधानसभा क्षेत्र के गांव धौलेटा गांव के एक 12 वीं कक्षा के छात्र टीकाराम की बरामदगी को लेकर राज्यसभा सांसद किरोड़ी मीना ने कहा कि जब तक युवक को पुलिस के द्वारा बरामद नही किया गया तो खुलेआम पुलिस व मेरे बीच कड़ा संघर्ष होगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी टोडाभीम पुलिस की होगी। डॉ किरोडी मीना वह नाम है जो गहरी नींद में सोई हुई पुलिस की नींद उड़ा देगा। उन्होंने कहा कि पुलिस की लाठी से डरने की जरूरत नही है। पुलिस की लाठी तो संत की छड़ी हैं जिसने पुलिस की लाठियां खाई हैं वो जरूर नेता बना हैं। टोडाभीम पुलिस एक पार्टी विशेष के लिए कार्य कर रही हैं यहां की पुलिस का कांग्रेसी करण हो गया है। क्षेत्र में अपराध दिनोदिन बढ़ते जा रहे हैं। टोडाभीम क्षेत्र में लूट हत्या डकैती बलात्कार खुलेआम हो रहे हैं। उन्होंने क्षेत्रीय विधायक पृथ्वीराज मीना का नाम लेते हुए कहा कि टोडाभीम की जनता ने प्रदेश में सबसे अधिक 73 हजार वोटों से जीताकर विधानसभा में भेजा हैं और प्रदेश में सबसे अधिक अपराध टोडाभीम क्षेत्र में ही हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि टोडाभीम की जनता का मेरे ऊपर अहसान है जब मुझे पार्टी से निकाल दिया था तो मेरी डूबती नैया को टोडाभीम की जनता ने पार किया था। यहां के लोगों ने मुझे एक लाख से अधिक वोटों से चुनाव जिताया था। धरना स्थल पर लोगों को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक बत्तीलाल मीना ने कहा कि धौलटा गांव से 12 वीं कक्षा का 19 वर्षीय छात्र टीकाराम मीणा का रहस्मयी तरीके से गुम हो जाता हैं। जिसका मामला नादौती पुलिस थाने में दर्ज करवाने के बाद भी पुलिस आज तक उसे ढूंढने में असफल रही हैं। राजेन्द्र शेखपुरा ने कहा कि टोडाभीम पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय पर जो धरना दिया जा रहा हैं एक युवक के 25 दिन पूर्व गुम होने के बाद भी स्थानीय पुलिस उसे ढूंढने में असफल हुई हैं। क्षेत्र में कानून व्यवस्था खराब हो गई हैं। डॉ किरोडी के वरिष्ठ कार्यकर्ता ने कहा की मेरे गांव की एक बालिका के गुम हो जाने का मामला दर्ज होने के बाद भी टोडाभीम पुलिस उपाधीक्षक के द्वारा कोई कार्यवाही नही की गई। आपको बता दें, कि गुमशुदा युवक के मामले को लेकर सुबह 10 बजे से ही लोगो की भीड़ जुटना शुरू हों गयीं । दोपहर बाद जैसे ही राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा धरना स्थल पर पहुचे तो उनके समर्थकों द्वारा डॉ मीना के जयकारो से समूचा क्षेत्र गुंजायमान हो उठा । इस दौरान पूर्व विधायक बत्तीलाल मीना, शेरसिंह रायसना, गोवर्धन सिंह जादौन, राजेंद्र शेखपुरा, मंगल राम गहलोत, धुंधी धडंगा, पूर्व सरपंच रघुवीर, पूर्व प्रधान रामसिंह मीना, छप्पन सादपुरा, धारा सादपुरा, गजानंद शर्मा, राकेश मोहनपुरा सहित दर्जनों भाजपा पदाधिकारी कार्यकर्ता व सैकड़ो की संख्या में महिला पुरुष ग्रामीण मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack