गांधी सप्ताह के समापन पर गांधी दर्शन को जानने और समझने का आह्वाहन।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
शांति एवं अहिंसा निदेशालय राजस्थान जयपुर के निदेशक मनीष कुमार शर्मा ने उपस्थित स्काउट गाईड, महाविद्यालय एवं विद्यालयो के उपस्थित छात्र छात्राओं सहित, शिक्षकों को अवगत कराया कि गांधी दर्शन को जाने और समझे और उस इतिहास के तथ्यात्मक जानकारियों को ग्रहण कर वास्तविक इतिहास के बारे मे लोगो को बताये एवं जागरूक करें। शांति एवं अहिंसा निदेशालय के निदेशक सूचना केन्द्र सभागार मे गांधी सप्ताह के तहत आयोजित कार्यक्रमों की श्रंखला मे शनिवार को समापन समारोह मे संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि जिले मे जो 2 अक्टूबर से कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है वे बहुत ही सराहनीय है।
राज्य मे 2 अक्टूबर को ऐतिहासिक कार्यक्रम सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया वह एक विश्व रिकार्ड बन गया है। उन्होने कहा कि नई पीढी को वास्तविक जानकारी हो तभी नई पीढी नया इतिहास बना पायेंगे।नई पीढी का योगदान पुरानी पीढी के अनुभव के साथ अधिक रहता है।उन्होने कहा कि जब युवा पीढी किसी भी लक्ष्य को ठान लेती है तो वह इतिहास बन जाती है आज युवाओ के सामने नई नई समस्याऐं आ रही है और गांधी जी के सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर उन समस्याओं से मुक्ति पाई जा सकती है।उन्होने कहा कि सभी की जिम्मेदारी है कि जो भी शिक्षा ग्रहण कर रहे है उसका आप चिंतन करें और शिक्षा तथ्यों पर आधारित हो तभी उसकी सार्थकता होगी अगर आज की युवा पीढी तथ्यात्मक ज्ञान प्राप्त करती है तो वह परिवार, समाज, देश मे अपना नाम रोशन कर सकते है। उन्होने कहा कि हर व्यक्ति के तरीके अलग अलग हो सकते है लेकिन विचार अच्छे हो तो कोई भी समस्या नही आ पाती है।उन्होने कहा कि शिक्षको एवं अधिकारियो की नैतिक जिम्मेदारी है कि तथ्यों सहित इतिहास के बारे मे युवाओ को अवगत कराये साथ ही उससे पहले इतिहास के बारे मे स्वयं भी जानकारी प्राप्त कर लें। उन्होने कहा कि गांधीजी का सिद्धान्त यही है कि हम असहाय गरीब एवं अंतिम छोर तक के व्यक्ति की सेवा करें और सरकार द्वारा जनहित मे लागू की गई बेहतरीन योजना जैसे चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, पालनहार आदि योजनाओं को जन जन तक पहुचाने का प्रयास करें तभी गांधीजी का सपना पूरा होगा। समापन समारोह मे सप्ताह के दौरान वेशभूषा, चित्रकला सहित अन्य प्रतियोगिताओं मे विजेता रहे छात्र छात्राओ को पुरूस्कृत कर सम्मानित किया गया। उन्होने सप्ताह के दौरान सहयोग करने वाले विभिन्न शिक्षण संस्थानोें के अध्यापक एवं अध्यापिकाओं को भी सम्मानित किया। समापन समारोह मे जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह, मुख्य कार्यकारी अधिकारी महावीर प्रसाद नायक आदि उपस्थित रहे। 
गांधीजी की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण।
निदेशक मनीष कुमार शर्मा एवं जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह ने स्वतंत्रता सैनानी चिरंजीवी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय मे गांधीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए आमजन को संदेश दिया कि गांधीजी के आर्दशों व सिद्धान्तों पर चलना चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack