छह दिवसीय आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का हुआ समापन।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
राजस्थान स्कूल परिषद की ओर से छह दिवसीय जिला स्तरीय रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा दक्ष प्रशिक्षक आवासीय प्रशिक्षण शिविर का आज समापन हुआ। जिसमें चित्तौड़गढ़ के सभी 11 ब्लॉक से कुल 44 प्रशिक्षणार्थियों को 3 कुशल प्रशिक्षको ने आत्मरक्षा के गुर सिखाए। इसके बारे में जानकारी देते हुए कुशल प्रशिक्षक सोनिका चोरडिया ने बताया कि विगत 6 दिनों से जारी जिला स्तरीय रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा दक्ष प्रशिक्षक आवासीय शिविर का आज समापन हुआ है। जिसमें चित्तौड़गढ़ के सभी 11 ब्लॉक से कुल 44 प्रशिक्षणार्थियों ने भाग लिया है और सभी को 3 कुशल प्रशिक्षकों नजमा और रेखा शर्मा ने आत्मरक्षा करने के गुर सिखाए हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में जिस तरह का माहौल सभी जगह पर देखा जा रहा है। जिसमें महिलाओं और बालिकाओं के साथ छेड़खानी की घटनाएं निरंतर बढ़ रही है। उसी को लेकर राज्य सरकार की ओर से पीएचक्यू में कुशल प्रशिक्षक तैयार करके इस तरह के शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इन शिविरों के माध्यम से और मास्टर ट्रेनर तैयार करके विद्यालयों में अध्ययनरत बालिकाओं को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग दिलवा सके। इस बारे में समग्र शिक्षा विभाग के पदाधिकारी और शिविर प्रभारी नरेंद्र शर्मा ने बताया कि 6  से 11 अक्टूबर तक रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा आवासीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया है। जिसका समापन हुआ है। डिप्टी डायरेक्टर जयपुर हरीश चंद्र प्रजापति और एडीपीसी प्रमोद दशोरा की उपस्थिति में हुआ इस अवसर शिविर में भाग ले रहे  समस्त प्रतिभागियों ने शिविर के बारे में जानकारी दी l

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack