सीवरेज खुदाई में मिली दुर्लभ प्रतिमा, मौके पर नहीं पहुंचे जिम्मेदार।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
चितौड़गढ़ शहर में चल रही सीवरेज की खुदाई के दौरान प्राचीन और दुर्लभ प्रतिमाएं निकलने का क्रम जारी है। रविवार को भी सुराणा मोहल्ले में खुदाई के दौरान एक दुर्लभ प्रतिमा मिली है। इसकी जानकारी मिली तो क्षेत्रवासी मौके पर बड़ी संख्या में एकत्रित हो गए। वही प्रतिमा का दुग्धाभिषेक भी किया गया। लेकिन काफी देर बाद भी जिम्मेदार विभाग के अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे हैं।जानकारी में सामने आया कि गत दिनों सिवरेज लाइन की खुदाई के दौरान लोहार मोहल्ला क्षेत्र में दुर्लभ प्रतिमा निकली थी। इस प्रतिमा को सूचना केंद्र के पास स्थित है एक चबूतरे पर रखवाया गया था। अब सीवरेज की पाइप लाइन डालने का कार्य सुराणा मोहल्ले में चल रहा है। यहां रविवार को खुदाई के दौरान एक देव प्रतिमा निकली है। यह देव प्रतिमा खंडित थी। वहीं आधा चक्र और एक पिल्लर भी निकला है। इसकी जानकारी मिली तो मौके पर बड़ी संख्या में मोहल्ले के लोग एकत्रित हो गए। लोगों में आस्था का माहौल देखने को मिला। प्रतिमा का दुग्धाभिषेक किया और उसकी सफाई की गई। बाद में इस प्रतिमा को दुकान के बाहर चबूतरे पर रख दिया। क्षेत्र के लोगों ने जेसीबी चालक से काफी देर तक खुदाई के लिए आग्रह किया की और गहराई में खुदाई करें। लेकिन वह इसके लिए राजी नहीं हुआ। इधर क्षेत्र के लोग बड़ी संख्या में मौके पर एकत्रित हो गए तथा पुरातत्व विभाग के अधिकारियों को सूचना दी गई। साथ ही संग्रहालय विभाग के अधिकारियों को भी फोन पर बताया। लेकिन कोई भी मौके पर नहीं आया।इस संबंध में बजरंग दल के पूर्व जिला संयोजक मुकेश नाहाटा ने बताया कि सुबह करीब 11 बजे खुदाई के दौरान ये प्रतिमाएं निकली थी। इसके संबंध में पुरातत्व विभाग के अधिकारियों को भी सूचना दी गई लेकिन कोई भी नहीं आया। लेकिन काफी देर इंतजार करने के बाद वे नहीं पहुंचे है। पुरातत्व विभाग के अधिकारी नहीं आते हैं तो प्रतिमाओं को किसी मंदिर में रखवाया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack