अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर प्रतियोगिताओं के माध्यम से दिया बेटी बचाओ का संदेश।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस एएनएम ट्रेनिंग सेंटर में मनाया गया, जहां पोस्टर प्रतियोगिता और मेहंदी प्रतियोगिता करा कर विजेताओं को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गए। समारोह की अध्यक्षता डिप्टी सीएमएचओ डॉ सतीश चंद मीणा द्वारा की गई, इस दौरान डीपीएम आशुतोष पांडे, पीसीपीएनडीटी समन्वयक नगीना शर्मा, आईईसी समन्वयक लखन सिंह लोधा, ट्रेनिंग सेंटर प्रभारी हरसहाय गुर्जर सहित एएनएम प्रशिक्षणार्थी मौजूद रहे। समारोह को संबोधित करते हुए डिप्टी सीएमएचओ ने कहा कि घटते लिंगानुपात को देखते हुए बालिका बचाओ की मुहिम संचालित है, सरकार द्वारा पीसीपीएनडीटी अधिनियम के माध्यम से भ्रूण लिंग परीक्षण रोकने के समूचे प्रयास किए जा रहे हैं।
लेकिन भ्रूण लिंग परीक्षण रोकने के लिए हम सभी को सजग रहना होगा, जागरूकता के माध्यम से भ्रूण लिंग परीक्षण पर अंकुश संभव है। उन्होंने बालिका संबल योजना को विस्तार से बताते हुए अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस की शुभकामनाएं प्रेषित की। डीपीएम आशुतोष पांडे द्वारा दिवस को मनाने की जरूरत, समाज में बालिकाओं द्वारा स्थापित कीर्तिमान और बालिकाओं के महत्व महत्व को बताया गया।पीसीपीएनडीटी समन्वयक द्वारा अधिनियम 1994 के बारे में विस्तार से बताया गया और अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस को मनाने के पीछे के कारण को भी विस्तार से बताया गया। इस दौरान एएनएम सेंटर प्रभारी द्वारा मंच का संचालन किया गया। पोस्टर प्रतियोगिता में एएनएम  प्रशिक्षार्थी संगीता कुमारी प्रथम, वर्षा सिसोदिया द्वितीय और प्रेरणा चिरवड़ा तृतीय और मेहंदी प्रतियोगिता में अंकिता प्रजापत प्रथम, संगीता और वर्षा सिसोदिया तृतीय स्थान पर रही तथा हिंदी प्रतियोगिता में बीएससी नर्सिंग छात्राओं में प्रियंका कुमारी और मीना कुमारी विजेता रही। सभी विजेताओं को स्मृति चिन्ह भेंट किए गए।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack