नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार।

चित्तौड़गढ़-गोपाल चतुर्वेदी।
चित्तौड़गढ़ जिले के बेगूं थाना क्षेत्र में एक नाबालिग के अपहरण और दुष्कर्म के मामले में कार्यवाही नहीं होने पर पीड़िता ने अपनी मां के साथ चित्तौड़गढ़ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच कर न्याय की गुहार लगाई है। इसमें आरोपियों सहित एक पुलिसकर्मी के खिलाफ भी मिलीभगत करने का आरोप लगाते हुए ज्ञापन दिया है। जानकारी में सामने आया कि बेगूं उपखंड क्षेत्र में रहने वाली एक प्रार्थिया ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच कर अपनी नाबालिग पुत्री के साथ ज्ञापन सौंपा है। इसमें बताया कि कल्याणपुरा निवासी राजू धाकड़ के यहां पर लाडुडा भील सिजारी पर काम करता है। लाडूडा भील प्रार्थी की पुत्री को बहला-फुसला कर गत 6 अगस्त की रात को ले गया। इसकी रिपोर्ट बेगूं पुलिस थाने पर दी। इसकी जांच पुलिसकर्मी देवीलाल को सौंपी गई। ज्ञापन में आरोप लगाया कि पुलिसकर्मी ने रुपए लेकर प्रार्थी की ओर से दी गई रिपोर्ट पर कोई कार्यवाही नहीं की। इससे आरोपियों के हौसले बुलंद हो गए। ज्ञापन में आरोप लगाया कि आरोपी दिनेश प्रार्थी की पुत्री को बहला फुसला कर अपने साथ ले गया और दुष्कर्म किया। पुत्री को धमकी दी कि अगर किसी को यह घटना बताई तो जान से खत्म कर देंगे। इस वारदात में दिनेश धाकड़ का सहयोग इसके भाई राजू व लाबू ने किया। साथ ही उसके फूफा जमुनालाल और भैरूलाल ने भी पुलिसकर्मी से मिलीभगत कर रिपोर्ट पर कोई कार्यवाही नहीं करने दी।ज्ञापन में बताया कि गत 9 अक्टूबर को आरोपी दिनेश धाकड़ ने प्रार्थिया को फोन करके पुत्री को फिर से उठा ले जाने की धमकी दी है। ज्ञापन में प्रार्थिया ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने रुपए लेकर मेडिकल मुआयना नहीं करवाया। पुत्री के साथ हुए अत्याचार के मामले में न्याय नहीं मिल पाया है। पुलिस अधीक्षक को सौंपे ज्ञापन में न्याय दिलाने की मांग की है। प्रार्थिया ने कल्याणपुरा निवासी मोहनलाल धाकड़ के पुत्र दिनेश राजू व लाबू सहित अनेड निवासी जमुनालाल, कचोडपुरा निवासी भेरूलाल, कल्याणपुरा के रामेश्वर धाकड़, चांदोलिया निवासी लाडूड़ा भील और बेगू थाने के देवीलाल के खिलाफ रिपोर्ट दी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack