दीपावली को लेकर एक्शन मोड मे कलेक्टर, व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में विभागों को जारी किये निर्देश।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने दीपावली के अवसर पर जयपुर जिले में साफ-सफाई, कानून एवं शांति व्यवस्था, सुगम यातायात, अग्निशमन, चिकित्सा, पेयजल एवं विद्युत आपूर्ति की व्यवस्थाएं सुचारू बनाए रखने के लिए सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश प्रदान किए हैं। राजपुरोहित ने सम्बन्धित विभागों को धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा एव भैया दूज के अवसर पर अपने-अपने कार्यालयों के क्षे़त्राधिकार में नियमानुसार सभी व्यवस्थाएं सुचारू रखने और कन्ट्रोल रूम का गठन करने के निर्देश जारी कर दिये है।राजपुरोहित ने नगर निगम ग्रेटर एवं हैरिटेज के अधिकारियों को शहर के सभी प्रमुख बाजारों में विशेष सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। शहर में सभी स्थानों से कूडे के ढे़र पहले से ही उठवाने को कहा गया है, जिससे किसी प्रकार से आगजनी व विस्फोटक सामग्री का अन्देशा नहीं रहे। इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था कर दिन-रात अतिरिक्त वाहन एवं कर्मचारी लगाकर सफाई व रोशनी की व्यवस्था सुनिश्चित करने को भी कहा गया है। बाजारों से निर्माण कार्य का मलबा उठवाने, समस्त चौपड़ों व सर्किलों पर फव्वारों को चालू रखने, आमेर स्थित मावठा व केसर क्यारी व शहर के उत्तरी द्वारों व प्रमुख इमारतों पर पूर्णरूपेण रोशनी एवं सजावट की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा गया है। बाजारों में आवारा पशुओं की रोकथाम, मृत पशुओं को तत्काल उठवाने, आवश्यतानुसार पेडों की छंटाई, विद्युत रिपेयरिंग, रोड लाइटस, स्ट्रीट लाइटस् के निरीक्षण एवं दुरूस्तीकरण, खुले मेन होल ढंकने के निर्देश दिए गए हैं।जिला कलक्टर ने सभी पुलिस उपायुक्तों को जयपुर शहर व आस-पास के क्षेत्र में दीपावली के अवसर पर पूर्णतया सुरक्षा व्यवस्था, सतर्क निगरानी व्यवस्था के लिए समुचित पुलिस कर्मियों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं एवं सभी संवेदनशील स्थानों पर सतत निगरानी एवं संदिग्ध वस्तुओं तथा व्यक्तियों की जांच सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। पुलिस उपायुक्त यातायात को जयपुर शहर व आसपास के क्षेत्र में दीपावली के अवसर पर यातायात व पार्किंग की समुचित व्यवस्था के साथ-साथ पर्याप्त यातायात पुलिस कर्मियों की व्यवस्था सुनिश्चित करने एवं पार्किंग स्थलों पर लावारिस वस्तु या लावारिस वाहनों की जांच आदि की व्यवस्था करने को कहा गया है। बीएसएनएल के अधिकारियों को शहर में टेलीफोन के लटके हुए, ढीले तारों को व्यवस्थित कराने, दूरसंचार व्यवस्था को सामान्य या किसी भी आकस्मिक, आपदा स्थिति में निर्बाध रखने के लिए निर्देशित किया गया है। जयपुर विद्युत वितरण निगम के अधिकारियों को शहर में रोशनी के लिए विद्युत आपूर्ति व्यवस्था नियमित रखने, अवरोध की स्थिति में तत्काल विद्युत आपूर्ति, मरम्मत व्यवस्था सुनिश्चित करने, 22 से 26 अक्टूबर तक शहर में संबंधित अधिशाषी अभियन्ता कार्यालयों में कन्ट्रोल रूम का पर्याप्त स्टाफ एवं संसाधनों के साथ गठन करने एवं सूचना प्राप्त होते ही आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने, आग लगने की सूचना मिलते ही सम्बन्धित क्षेत्र की बिजली आपूर्ति काटने एवं वापस बहाल किया जाना सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है। शहर में बिजली के लटकते, ढीले तारों को व्यवस्थित करने को कहा गया है। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को धनतेरस से ही निरन्तर जलापूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित करने, फायर हाईड्रेन्टस् में पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध सुनिश्चित रखने,  जल आपूर्ति अवरोध की स्थिति में तत्काल जल आपूर्ति, मरम्मत व्यवस्था सुनिश्चित रखने, 22 से 26 अक्टूबर तक शहर में संबंधित अधिशाषी अभियन्ता कार्यालयों में पर्याप्त संसाधनों एवं स्टाफ के साथ कन्ट्रोल रूम का गठन कर सूचना प्राप्त होते ही तत्काल आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही 22 से 26 अक्टूबर तक दीपावली के अवसर पर आग लगने की घटनाओं की आशंका को देखते हुए मुख्य अग्नि शमन अधिकारी नगर निगम जयपुर से समन्वय स्थापित करने एवं निर्धारित स्थानों पर पर्याप्त पानी के टैंकर उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करने को कहा गया है।नागरिक सुरक्षा विभाग के अधिकारियों को दीपावली पर अग्निशमन वाहन, एंबुलेंस व्यवस्था, विद्युत, कन्ट्रोल रूम, पेयजल इत्यादि सभी संबंधित विभागों से समन्वय रखते हुए आवश्यकता होने पर आपदा प्रबंधन संबंधी सेवाओं हेतु तत्पर रहने को कहा गया है। इसके अतिरिक्त ग्रामीण क्षेत्र में विभाग के अग्निशमन वाहनों को मय आवश्यक उपकरण व स्टाफ के तैनात रखने को कहा गया है ताकि आवश्यकता पडने पर उनको अवस्थित किया जा सके।
घायलों का समय पर इलाज किया जाए।
दीपावली के अवसर पर शहर में आग लगने की घटनाओं में जलने पर घायलों के त्वरित उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए सवाई मानसिंह चिकित्सालय के अधीक्षक को निर्देशित किया है। जिला कलक्टर ने 23 एवं 24 अक्टूबर को दीपावली पर आग लगने से जलने की संभावित आकस्मिक घटना की आशंका को देखते हुए सवाई मानसिंह अस्पताल में बर्न यूनिट में आने वाले मरीजों को तुरंत उपचार की सुनिश्चितता के लिए संदीप बैरड, तहसीलदार जयपुर (9799573554) को नियुक्त किया है।
एम्बुलेन्स वाहन मय स्टाफ की उपलब्धता रखें।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रथम एवं द्वितीय को 22 से 26 अक्टूबर तक धनतेरस को प्रातः 10 बजे से थाना रामगंज, माणकचौक, कोतवाली, शास्त्रीनगर, विद्याधर नगर, आदर्श नगर, वैशाली नगर, मानसरोवर, मालवीय नगर, आमेर, सांगानेर एवं पुलिस आयुक्तालय पर एम्बुलेन्स वाहन मय आवश्यक उपकरण व स्टॉफ के उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।
प्रमुख अस्पतालों को राउंड दी क्लॉक खुला रखा जाए।
ग्रामीण क्षेत्र में (पूरे जिले में) जहां-जहां एम्बुलेन्स उपलब्ध नहीं हो, वहां पर 22 से 26 अक्टूबर तक एम्बुलेन्स वाहन मय आवश्यक उपकरण व स्टॉफ के उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। साथ ही आकस्मिक परिस्थितियो को ध्यान में रखते हुए जयपुर नगर में प्रमुख अस्पतालों को 22 से 26 अक्टूबर तक राउण्ड-द-क्लॉक खुला रखवाया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि चिकित्सक, मेडिकल स्टॉफ एवं आवश्यक दवाईयां एवं संसाधन भी इनमें उपलब्ध रहे जिससे किसी भी घायल व्यक्ति या अग्नि दुर्घटना से पीड़ित व्यक्ति को तत्काल उपचार मिल सके। उन्होंने 22 से 26 अक्टूबर तक छोटी एवं बड़ी चौपड़ पर एक-एक 108 एंबुलेंस मय आवश्यक उपकरण व डाक्टर तथा नर्सिंग स्टाफ के अवस्थित कराने के लिए निर्देशित किया है।
एल.पी.जी बॉटलिंग प्लान्ट के आस-पास आतिशबाजी पर रहेगी रोक।
दीपावली पर्व पर अति ज्वलनशील एलपीजी के आई.ओ.सी.एल. वॉटलिंग प्लान्ट सीतापुरा और बी.पी.सी.एल. के वॉटलिंग वीके.आई. रोड नम्बर 14 पर आपदा व्यवस्था के तहत 500 मीटर रेडियस जोन पर विशेष सतर्कता बरतने सहित इस क्षेत्र में अतिशबाजी पर रोक लगाई गई है।
कन्ट्रोल रूम की स्थापना।
दीपावली पर्व के अवसर पर आगजनी की घटनाओं को मध्यनजर रखते हुये जिला कार्यालय के कमरा नम्बर 4 में एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई। जिसका दूरभाष नम्बर -0141 2204475 एवं 2204476 रहेगा। नियंत्रण कक्ष 23 से 24 अक्टूबर तक राउंड दी क्लॉक संचालित रहेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack