सीएम गहलोत चार दिवसीय दौरे पर रहेंगे गुजरात, जनसभा को करेंगे संबोधित।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने आपको सुरक्षित करने के लिए गुजरात का 28 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक चार दिवसीय दौरा बना लिया है। इस दौरान उनका 6 जगह जनसभाएं करने का कार्यक्रम भी बनाया है। आखिर  सीएम गहलोत ने गुजरात प्रभारी डॉ. रघु शर्मा द्वारा इस्तीफा देने के बाद अपना दौरा किसके कहने से बनाया है यह स्पष्ट नहीं है। जब सभी पदाधिकारियों ने अपने इस्तीफे दिए हैं तो फिर सीएम गहलोत गुजरात के सीनियर ऑब्जर्वर कैसे बने रह सकते हैं ? अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़के के कार्यभार ग्रहण करने के तत्काल बाद गुजरात का दौरा अपने आप में सवाल पैदा करता है। आखिर  सीएम गहलोत ने जल्दबाजी में गुजरात का दौरा क्यों रखा है। इसके पीछे उनकी क्या राजनीति है यह तो वे खुद ही बता सकते हैं। लेकिन यह बात सही है कि  वे अपनी बिगड़ी हुई स्थिति को सुधारने के लिए गुजरात में सक्रिय रहना चाहते हैं। गुजरात दौरे में उन्होंने बगावत में प्रमुख रूप से किरदार निभाने वाले कर्मचारी नेता राजस्थान पर्यटक विकास निगम के अध्यक्ष धर्मेंद्र राठौर को अहमदाबाद जिले की जिम्मेदारी दे रखी है। सीएम  गहलोत के इस पहले चार दिवसीय दौरे में वे   धर्मेंद्र राठौड़ को कितना सक्रिय रखेंगे यह तो आने वाले समय में स्पष्ट कर पाएगा। गुजरात प्रभारी डॉ. रघु शर्मा के इस्तीफे के बाद सीएम गहलोत का यह पहला दौरा होगा । इस दौरे को सफल बनाने के लिए उन्होंने हर स्तर के प्रयास किए हैं और अपनी एडवांस टीमें भेजकर व्यवस्थाएं अच्छी बनाने की कोशिश की जा रही है । जिससे कि वे पार्टी हाईकमान को यह जता सके कि उनके रहने से गुजरात में पार्टी को सफलता मिल सकती है। यही कारण है कि उन्होंने अपने चार दिवसीय दौरे में प्रवासी राजस्थानीओं की मदद लेकर भी अपने दौरे को सफल बनाने की रणनीति भी तैयार की है। सीएम गहलोत 31 अक्टूबर को गुजरात में बनासकांठा में भारत जोड़ो पदयत्रा में भी शामिल होंगे। इस यात्रा को सफल बनाने के लिए उन्होंने जोधपुर, जालौर, सिरोही और पाली तक के नेताओं को सक्रिय किया है। जिससे कि वे लोग यहां पर अधिक से अधिक सक्रिय होकर कांग्रेस की फिजा अच्छी बनाने का प्रयास करेंगे। लेकिन भारत जोड़ो  पैदल यात्रा में गुजरात से ज्यादा राजस्थान के लोग  अधिक सक्रिय नजर आएंगे।सीएम गहलोत के तय कार्यक्रम के अनुसार 28 अक्टूबर को सुबह 9 बजे जयपुर से विशेष विमान से वड़ोदरा के लिए रवाना होंगे। सुबह 10.15 बजे वडोदरा पहुंचेंगे। सुबह 11 बजे गरबदा में जनसभा को संबोधित करेंगे। वहां से हेलीकॉप्टर से रवाना होकर फतेहपुरा (जालोद) पहुंचेंगे और दोपहर 2 बजे जनसभा को संबोधित करेंगे। गहलोत वापस वड़ोदरा पहुंचकर शाम 4.15 बजे वड़ोदरा में प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। फिर सूरत पहुंचकर शाम को वहां स्थानीय कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे और रात्रि विश्राम करेंगे। 29 अक्टूबर को  सीएम गहलोत सूरत से हेलिकॉप्टर से सुबह 10.30 बजे नवसारी पहुंचकर जनसभा को संबोधित करेंगे। सीएम गहलोत दोपहर 2 बजे विशेष विमान से उदयपुर में डबोक एयरपोर्ट पहुंचेंगे। फिर दोपहर 3 बजे हेलिकॉप्टर से राजसमंद के नाथद्वारा पहुंचेंगे। शाम 4 बजे नाथद्वारा शिव प्रतिमा विश्व स्वरूपम् का कार्यक्रम शिरकत  करेंगे। सीएम गहलोत वापस शाम 7 बजे अहमदाबाद पहुंच जाएंगे। रात को अहमदाबाद में ही ठहरेंगे। 30 अक्टूबर को सीएम गहलोत सुबह 11 बजे हेलीकॉप्टर से बनासकांठा पहुंचकर जनसभा को संबोधित करेंगे। फिर दोपहर 1 बजे साबरकांठा के खेरब्रह्मा पहुंचकर जनसभा करेंगे। दोपहर 2.30 बजे अरावली के भिलोड़ा में जनसभा को संबोधित करेंगे। शाम 4.30 बजे राजस्थान के सिरोही में आबूरोड पहुंचकर रात वहीं रात्रि विश्राम करेंगे। सीएम गहलोत 31 अक्टूबर को सुबह 9.30 बजे आबू रोड से हेलिकॉप्टर से रवाना होकर सुबह 10 बजे गुजरात के बनासकांठा पहुंचेंगे। जहां भारत जोड़ो पदयात्रा में शामिल होकर पैदल मार्च करेंगे। दो घंटे पदयात्रा में रहने के बाद  सीएम गहलोत दोपहर 12.30 बजे उदयपुर में डबोक एयरपोर्ट पहुंचेंगे। फिर वहां से विशेष विमान के जरिए दोपहर 1.30 राजधानी जयपुर लौट आएंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack