शराब के नशे में युवक की हत्या, पुलिस ने दो महिलाओं समेत 4 को किया गिरफ्तार।

भरतपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
भरतपुर जिले के बयाना क्षेत्र के खरैरी बागरैन के जंगल में दो दिन पूर्व मिली डेड बॉडी से जुड़ी गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस के अनुसार शराब के नशे में गालीगलौच करने पर लोगों ने लाठी-डंडों से पीट-पीटकर हत्या की थी। उसके बाद गाड़ी में शव को सामान के साथ बांधकर जंगल में फेंक दिया था। मामले में पुलिस ने 48 घंटे बाद ही दो महिलाओं समेत 4 को गिरफ्तार कर लिया है।
यह थी घटना।
दरअसल अजमेर के सरवाड़ निवासी राजेशनाथ बयाना के लहचोरा खुर्द रोड पर सिलबट्टा और चक्की के पाट बनाने का काम करता था। राजेश नाथ बीते कई दिनों से अपनी झोपड़ी से लापता था। 28 अक्टूबर शाम को पुलिस को खरैरी बागरैन के जंगल में राजेशनाथ का क्षत-विक्षत शव मिला था। मृतक के परिजनों की ओर से हत्या की आशंका की रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद एसपी के निर्देश पर पुलिस टीम गठित कर मामले की गहनता से जांच की गई। बयाना थाना प्रभारी हरिनारायण मीणा ने बताया कि टीमों ने दबिश देकर नामजद आरोपी मदननाथ, सुरेशनाथ, प्रेम पत्नी धन्ननाथ, लाडा पत्नी राजूनाथ को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वो एक माह पूर्व हिंडौन से बयाना आये थे। यहीं पर डेरा डालकर रहने लगे। दीपावली से 3-4 दिन पहले राजेशनाथ भी साथ में ही रहने लगा। राजेशनाथ की पत्नी और लाडा के पति की मौत हो गई थी। राजेशनाथ, लाडा से शादी करना चाहता था। इसलिए लाडा की मां के डेरे पर आता-जाता था। दीपावली की रात को आरोपियों और राजेशनाथ ने शराब पीकर डीजे पर डांस किया। राजेशनाथ ने शराब के नशे में आरोपियों से गालीगलौच कर दी। जिस पर आरोपियों मदननाथ और सुरेश नाथ ने राजेशनाथ से मारपीट कर दी। अगले दिन फिर से शाम को राजेशनाथ ने शराब पीकर गालीगलौच कर दी। इस पर आरोपी सुरेशनाथ और मदननाथ ने राजेशनाथ की लात-घूंसों, लाठी-डंडों से पिटाई की थी। जिससे राजेशनाथ को ज्यादा चोट पहुंची और रात को उसकी मौत हो गई। 26 अक्टूबर की रात को आरोपियों ने डेरे का सामान और राजेशनाथ का शव एक गाड़ी में लोड कर लिया। उसके बाद खरैरी बागरैन के जंगल में शव फेंक दिया। पुलिस चारों आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack