14 स्वास्थ्य केन्द्र होंगे क्रमोन्नत,खुलेगा एक नवीन उप स्वास्थ्य केन्द्र।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने नागौर, सिरोही, राजसमन्द, अलवर तथा टाेंक जिलों के विभिन्न उप स्वास्थ्य केन्द्रों को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (पीएचसी) तथा जोधपुर, जयपुर एवं टोंक जिलों के विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) में क्रमोन्नत करने की स्वीकृति दी है। साथ ही, उन्होंने टोंक जिले में एक नवीन उप स्वास्थ्य केन्द्र खोलने के प्रस्ताव का भी अनुमोदन किया है।प्रस्ताव के अनुसार, नागौर जिले के परेवडी, सिरोही जिले के माकरोड़ा, डोडुआ, गोयली एवं बड़गांव, टोंक जिले के लांबा, जैकमाबाद एवं छानबाससूर्या, राजसमन्द जिले के जूणदा तथा अलवर जिले के सिली बावड़ी स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्रों को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में क्रमोन्नयन को स्वीकृति दी गई है। वहीं जोधपुर के मातोड़ा, टोंक के लांबाकलां और जयपुर के मण्डाभिण्डा एवं ईटावा भोपजी स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्राें को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में क्रमोन्नत करने की मंजूरी दी गई है। इसके अलावा टोंक जिले के ग्राम काचरिया में नवीन उप स्वास्थ्य केन्द्र खोलने की मंजूरी दी गई है।उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार के निरोगी राजस्थान के संकल्प के तहत उक्त स्वीकृति दी गई है। राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपनी नीतियों और योजनाओं के माध्यम से ग्रामीण स्वास्थ्य के बुनियादी ढ़ांचे को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। स्वास्थ्य केंद्रों की क्रमोन्नति व नये केन्द्र के खुलने से प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार होगा तथा आमजन को स्थानीय स्तर पर ही बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सकेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack