विभिन्न मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता 14 दिसंबर को करेंगी विधानसभा का घेराव।

करौली ब्यूरो रिपोर्ट।
राजस्थान आंगनबाड़ी कर्मचारी महासंघ के तत्वाधान में करौली जिला मुख्यालय पर मंगलवार को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सड़क पर उतर आई और गहलोत सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए आक्रोश रैली निकाल कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने जिला कलेक्टर को विभिन्न मांगों का ज्ञापन सौंपकर शीघ्र समस्या समाधान की मांग रखी। मांग पूरी नहीं होने पर 16 दिसंबर को विधानसभा घेराव की चेतावनी दी है। राजस्थान आंगनबाड़ी कर्मचारी महासंघ की प्रदेश महामंत्री राधा शर्मा, संरक्षक हेमलता शर्मा, मनीषा शर्मा, अलका शर्मा आदि ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की समस्या काफी समय से लंबित है। सरकार को बार-बार समस्या बताने के बाद भी कोई हल नहीं हो पा रहा है और सरकार आंगनबाड़ियों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दे रही है। 
इसी के चलते आज आक्रोश रैली निकाली गई और जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर मुख्यमंत्री से शीघ्र समस्या समाधान की मांग की गई है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताया कि 1 दिसंबर से 5 दिसंबर तक आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद रखने का भी निर्णय लिया गया है।
यह है आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मुख्य मांगे।
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम जिला कलेक्टर अंकित कुमार सिंह को ज्ञापन सौंपकर बताया कि वर्तमान में पोषाहार सही नहीं है इसे पूर्व की भांति मातृ समिति से दिलवाया जाये।मानदेय समय पर जमा नहीं हो रहा है समय पर मानदेय, भवनं किराया, T.A.,D.A. पोषाहार दिया जाए, पैकिंग खर्चों PMY की प्रोत्साहन राशि का भुगतान करवाया जायें। पूर्व के 2019 से 2020 के स्वयं सहायता समूह पोषाहार का भुगतान करवाया जाये।विभाग के आदेश के बावजूद फलेक्सी फण्ड की राशि जमा नहीं हुई है राशि शीघ्र जमा करवाई जाये। पोषण टेकर की राशि व सामुदायिक उत्सव की प्रोत्साहन राशि का भुगतान करवाया जावे। जो आगबाड़ी कर्मी रिटायर हुए हैं उनको 5 लाख रूपये एकमुश्त व 5000 रूपये प्रतिमाह दिये जाये। पल्स पोलियों के 100 रू प्रतिदिन तीन दिन के 300 रूपये दिये जायें। कोरोना काल के 2 साल के 24हजार रूपये दिये जाये और दो बच्चे की नसबन्दी पर 1000 रूपये दिये जायें। वर्दी 2016 से बाकी है जबकि हर वर्ष दो साड़ी के 1000 रूपये दिये जाये। अजमेर जिले में 5 वर्ष से स्टेशनरी रजिस्टर नहीं दिये गये है जबकि अन्य जिलों में प्रतिवर्ष दिये जाये। सभी कर्मियों के कल्याण कोष का अविलंब भुगतान किया जाए। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में से 100 प्रतिशत भ.प बनाई जाये साथ ही एनटीटी शिक्षक भी हमारे में से लगाई जाये। जो आंगनवाड़ी कार्यकर्ता रिटायरमेंट होती है तो उसके स्थान पर उसी के परिवार में से आंगनवाड़ी कार्यकर्ता लगाई जाए। साथियो को जाजम बैठक का पैसा दिया जाए साथ ही किशोरी बालिका मीटिंग का पैसा भी दिया जावे। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताया कि हमारी यह माने अगर सरकार शीघ्र ही पूरी नहीं करती है तो 16 दिसंबर को विधानसभा का घेराव किया जाएगा। इस दौरान सैकड़ों आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद रही।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack