अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ माइंस विभाग की ताबड़तोड़ कार्यवाही, 24 घंटें में 50 से अधिक वाहन किये जब्त।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
राज्य के माइंस विभाग द्वारा अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ 11 नवंबर को दोपहर से चलाए जा रहे तीन दिन के विशेष अभियान में पिछले 24 घंटों में ताबड़तोड़ कार्यवाही करते हुए खनिजों के अवैध परिवहन में लिप्त 50 से अधिक वाहन जब्त किए जा चुके हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव माइंस, पेट्रोलियम एवं पीएचईडी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य में रात्रिकालीन गश्त के दौरान ही 25 से अधिक वाहनों को बजरी, मेसनरी स्टोन, क्वार्टज, ग्रीट, जिप्सम आदि का अवैध परिवहन करते हुए जब्त किया गया है। जयपुर वृत में ही पिछले 24 घंटों में 2 कंप्रेसर सहित 15 से अधिक वाहन जब्त किया जा चुके हैं।एफआईआर के साथ ही एक व्यक्ति की गिरफ्तारी हुई है। एसीएस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दो दिन पहले 10 नवंबर को जयपुर में स्टोनमार्ट का उद्घाटन करते हुए जल्दी ही नई खनिज नीति, खनन श्रमिकों का सिलिकोसिस से बचाव, खनन कार्य में श्रमिकों के सुरक्षा उपाय और खनन क्षेत्र के लिए जल्द पर्यावरण स्वीकृति पर जोर दिया। मुख्यमंत्री गहलोत के निर्देशों के क्रम में विभाग द्वारा पुलिस प्रशासन से समन्वय बनाते हुए तुरंत प्रभाव से तीन दिन का विशेष अभियान चलाने का निर्णय करते हुए राज्य भर में एक साथ कार्यवाही की जा रही है। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि राज्य सरकार अवैध खनन गतिविधियों के प्रति गंभीर है और उपलब्ध संसाधनों का बेहतर उपयोग करते हुए लगातार कार्यवाही की जा रही है। राज्य में अवैध खनन को रोकने के लिए ही नए खनिज ब्लॉक्स तैयार कर नीलामी की जा रही है। निदेशक माइंस संदेश नायक ने बताया कि समूचे प्रदेश में अवैध खनन गतिविधियों पर कार्यवाही जारी है। उन्होंने बताया कि उनके स्वयं के स्तर पर अभियान की कार्यवाही की मोनेटरिंग की जा रही है और अधिकारियों व संबंधित विभागों से समन्वय बनाया जा रहा है। नायक ने बताया कि विभाग के अतिरिक्त निदेशकों बीएस सोढ़ा, महेश माथुर, महावीर मीणा, जयगुरुख्सानी सहित अधिकारियों द्वारा अपने अपने जोन में कार्यवाही को निर्देषित किया जा रहा है। मुख्यालय स्तर पर एसएमई सतर्कतता योगेन्द्र सिंह सहवाल अधिकारियों से समन्वय व मोनेटरिंग कर रहे हैं। उदयपुर जोन के अतिरिक्त निदेशक महेश माथुर ने बताया कि उदयपुर, राजसमंद और भीलवाड़ा में अवैध परिवहन के 12 वाहन की जब्ती और अवैध भण्डारण के एक प्रकरण में कार्यवाही की गई है। इसके साथ ही 9 लाख 37 हजार 800 रु. जुर्माने के रुप में वसूले गए हैं। जयपुर वृत के एसएमई प्रताप मीणा ने बताया कि जयपुर के कानोता के पास हर्डी हरध्यानपुरा में बड़ी कार्यवाही करते हुए 2 कंप्रेसर सहित वाहन जब्त किए गए है। एमई जयपुर कृष्ण शर्मा और एमई सतर्कता पुष्पेन्द्र व कार्मिकों के साथ कार्यवाही करते हुए जयपुर में चार वाहन जब्त किए गए है। अलवर में एक, कोटपुतली में 3, झुन्झुनूं में 3 व सीकर और नीम का थाना में एक एक वाहन अवैध खनिज परिवहन करते हुए जब्त किए गए है। जोधपुर एसएमई डॉ. धमेन्द्र लोहार ने बताया कि वृत में 9 वाहन जब्त किए गए हैं और एक लाख एक हजार 750 रु. जुर्माने के वसूले गए हैं। रात्रिकालीन गश्त के दौरान उदयपुर एसएमई एनएस शक्तावत एमई व एमई सतर्कता द्वारा कार्यवाही करते हुए फतेहनगर में दो वाहन जब्त किए गए हैं। हनुमानगढ़ में जिप्सम से भरे टैक्टर को जब्त किया गया है वहीं सवाई माधोपुर में दो डंपर, सलूंबर में एक, श्रीगंगानगर में जिप्सम से भरा टेृलर, ब्यावर में एक, रासतसर में एक, जालौर में 2, जोधपुर में 3 वाहन, भीलवाड़ा व अन्य सथानों पर रात्रिकालीन गश्त के दौरान जब्त किए गए हैं। इससे पहले 11 नवंबर को शाम तक 25 से अधिक वाहन जब्त कर संबंधित थानों में पुलिस को सुपुर्द किए गए है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack