अंतरजातीय विवाह के 26 दिन बाद पति ने पत्नी की हत्या कर शव पुष्कर सरोवर में फेंका।

अजमेर ब्यूरो रिपोर्ट।
अजमेर के किशनगंज थाने क्षेत्र के द्वारका नगर में रहने वाले अंतरजातीय विवाह के 26 दिन बाद ही नव विवाहिता पत्नी की गला रेतकर पति ने हत्या कर दी। पति मुकेश सिंधी ने इसके बाद शव को पुष्कर सरोवर में फेंक दिया। पड़ोसियों की सूचना के आधार पर पुलिस ने आरोपी पति मुकेश सिंधी को गिरफ्तार कर लिया है। लड़की के भाई ने पति के खिलाफ दहेज का मुकदमा दर्ज कराया है। गुरुवार को पोस्टमार्टम किया जाएगा।पति मुकेश सिंधी की नया बाजार में कपड़े की दुकान है। 26 दिन पहले ही मुकेश की शादी भगवान गंज स्थित यूआईटी कॉलोनी की रहने वाली जेनिफर से हुई थी। दोनों अलग-अलग जाति के हैं। इसके बावजूद दोनों परिवारों की आपसी सहमति से शादी हुई थी। पड़ोसियों ने बताया- बुधवार सुबह करीब 11 बजे पति-पत्नी के बीच लड़ाई हो रही थी। इसके बाद उस लड़की की पति ने हत्या कर दी और उसके शव को एक बोरा लेकर बाहर निकला। बोरा स्कूटी पर रखते समय गिर गया। इस बीच पड़ोसी ने बोरे में जेनिफर की बॉडी देख ली। फौरन पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने घर का ताला तोड़कर खोला तो खून के निशान मिले। इस दौरान मुकेश भी घर पहुंचा। पुलिस को देख भागने लगा। उसे कलेक्ट्रेट के पास से पुलिस ने गिरफ्तार किया । पुलिस पूछताछ में पति ने स्वीकार किया कि उसने पत्नी की हत्या कर दी है और उसके शव को पुष्कर में फेंक दिया है। पुलिस ने शव बरामद कर लिया है। पुलिस जांच में सामने आया कि मुकेश ने तीन साल पहले ये घर खरीदा था। घर बंद ही रहता था। शादी के बाद मुकेश और जेनिफर इस घर में रह रहे थे। मुकेश की मां एक-दो बार घर पर मिलने आई थी। जेनिफर के भाई भगवान गंज निवासी रोनीदास ने पति के खिलाफ दहेज का मामला दर्ज कराया है। उन्होंने f.i.r. में लिखा है कि शादी के बाद से ही जेनिफर को दहेज के लिए प्रताड़ित किया जा रहा था। दोनों की शादी परिवार की मर्जी से हुई थी। मुकेश और जेनिफर के बीच आए दिन झगड़ा होता था। अजमेर उत्तर सीओ छवि शर्मा ने बताया कि दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।आरोपी मुकेश केशवानी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी द्वारा चाकू से हत्या की गई है। आरोपी पति से पूछताछ के बाद बॉडी को बरामद कर ली गई है। गुरुवार उसका पोस्टमार्टम मेडिकल बोर्ड से होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack