मांईस विभाग ने 3 दिन में ताबड़तोड़ कारवाई में 200 वाहनों को जब्त करने के साथ वसूला 70 लाख का जुर्माना।

जयपुर ब्यूरो रिपोर्ट।
माइंस एवं पेट्रोलियम के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य के माइंस विभाग द्वारा अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ 11 नवंबर से चलाए गए तीन दिवसीय  विशेष अभियान में राज्यभर में 195 कार्यवाही कर 200 वाहनों की जब्ती के साथ ही 70 लाख 29 हजार से अधिक की राशि जुर्माने के रुप में वसूली जा चुकी है। अभियान के दौरान सर्वाधिक कार्यवाही जयपुर जोन और जयपुर वृत में रही हैं वहीं वसूली राशि में भी जयपुर आगे रहा है।एसीएस माइंस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि 10 जनवरी को स्टोनमार्ट के उद्घाटन सत्र के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार अवैध खनन के प्रति गंभीर होने के साथ ही निरंतर अभियान चलाकर इस पर रोक लगाने के प्रयास कर रही है। 
प्रदेश में वैध खनन को बढ़ावा देने और अवैध खनन के खिलाफ कार्यवाही की चर्चा करने के साथ ही सुरक्षित माइनिंग व खनन कार्य में लगे श्रमिकों के स्वास्थ्य के प्रति भी सरकार गंभीर है। मुख्यमंत्री गहलोत के निर्देश के साथ ही विभाग एक्शन मोड पर आ गया और तत्काल प्रभाव से पुलिस अधीक्षकों से समन्वय बनाते हुए तीन दिवसीय विशेष अभियान चलाने का निर्णय किया गया। उन्होने बताया कि अभियान के सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अभियान के दौरान सर्वाधिक 176 कार्यवाही अवैध खनिज परिवहन की गई हैं। अवैध भण्डारण के 4 प्रकरण सामने आए हैं तो अवैध खनन गतिविधियों पर 15 कार्यवाही की गई है। अधिकारियों द्वारा कार्यवाही के दौरान 523 टन खनिज को जब्त किया है। निदेशक माइंस संदेश नायक ने बताया कि तीन दिवसीय अभियान अपने उद्देश्यों में इस तरह से सफल रहा कि अभियान के दौरान 200 वाहनों व मशीनों की जब्ती के साथ ही केवल तीन दिन में ही 70 लाख 37 हजार रुपए की वसूली हुई है। डीएमजी नायक ने बताया कि अभियान के दौरान जयपुर जोन में अतिरिक्त निदेशक बीएस सोढ़ा, जोधपुर व उदयपुर जोन में महेश माथुर और कोटा मे महावीर मीणा के मार्गदर्शन में अभियान संचालित किया गया। उन्होंने बताया कि अवैध खनन गतिविधियों के खिलाफ अभियान के बाद भी नियमित कार्यवाही जारी रहेगी। जयपुर जोन में बीएस सोढ़ा के मार्गदर्शन में जयपुर वृत के एसएमई प्रताप मीणा के नेतृत्व में जयपुर, अलवर, सीकर, झुन्झुनू, दौसा व टोंक में 46 कार्यवाही करते हुए 2 कंप्रेसर, एक पोकलेन मशीन सहित 56 वाहन जब्त किए गए हैं। जयपुर में सर्वाधिक 8 लाख 77 हजार रु. से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। एसएमई प्रताप मीणा के नेतृत्व में एमई जयपुर कृष्ण शर्मा, पुष्पेन्द्र मीणा, नीम का थाना में अमीचन्द अलवर में राजेन्द्र चौधरी द्वारा उल्लेखनीय कार्यवाही की गई है। अजमेर एसएमई जय गुरबख्सानी के नेतृत्व में अजमेर व नागौर में सहदेव सारण, ब्यावर श्याम चौधरी द्वारा प्रभावी कार्यवाही की गई है। कोटा भरतपुर एसएमई अविनाश कुलदीप के नेतृत्व में 33 कार्यवाही में 34 वाहन जब्त करने के साथ ही 10 लाख से अधिक का जुर्माना वसूला गया है।जोधपुर व उदयपुर में अतिरिक्त निदेशक महेश माथुर के मार्गदर्शन में कार्यवाही की गई। एसएमई जोधपुर डॉ. धर्मेन्द्र लोहार के नेतृत्व में एमई प्रवीण अग्रवाल व अन्य तथा बीकानेर वृत में भीमसिंह के नेतृत्व में 54 कार्यवाही करते हुए 53 वाहन मशीनरी जब्त की गई। 23 लाख से अधिक का जुर्माना वसूला गया है। उदयपुर जोन में महेश माथुर के मार्गदर्शन में एसएमई राजसमंद ओपी काबरा के नेतृत्व में पूरण मल सिंगारिया, अंसारी, एसएमई उदयपुर एनके वैरवा और एसएमई भीलवाडा कमलेश बारेगामा क नेतृत्व में कार्यवाही को अंजाम दिया गया। भीलवाड़ा में एमई जिनेश हुमड़ द्वारा उल्लेखनीय कार्यवाही की गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

ARwebTrack